रिश्वत लेते हत्थे चढ़ा बिजली निगम का एसडीओ

Haryana: फैक्ट्री मालिक से बिजली का बिल कम कराने के नाम पर मांगी थी रिश्वत

रेवाड़ी. 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए विजिलेंस टीम ने बिजली निगम के सिटी-2 एसडीओ जगदीप रोहिल्ला को रंगे हाथों काबू किया है। वह एक फैक्ट्री मालिक से बिजली का बिल कम कराने के नाम पर रिश्वत मांग रहा था। शुक्रवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

जिला के गांव गोकलगढ़ निवासी एक व्यक्ति ने नगर के जैन नसियाजी रोड पर एक फैक्ट्री खोली हुई है। कुछ समय पहले उसकी फैक्ट्री का 7 लाख रुपए का बिजली का बिल निगम की तरफ से भेजा गया। बढ़े हुए बिजली के बिल को ठीक कराने के लिए जब वह सिटी-2 कार्यालय पहुंचा तो कर्मचारियों ने उसे टरका कर वापिस भेज दिया। बाद में उसने एसडीओ जगदीश रोहिल्ला से मुलाकात की तो रोहिल्ला ने उससे बिल कम करने की एवेज में 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। दोनों के बीच बृहस्पतिवार को रिश्वत देने का सौदा तय हो गया। इससे पहले फैक्ट्री मालिक ने इसकी सूचना विजिलेंस विभाग को दे दी। उसकी टीम ने डीसी यशेन्द्र सिंह को सूचित किया। डीसी ने बतौर ड्यूटी मजिस्ट्रेट नायब तहसीलदार नरेन्द्र को टीम के साथ रवाना किया। आज दोपहर 2 बजे फैक्ट्री मालिक 20 हजार रुपए की रिश्वत देने के लिए एसडीओ जगदीप रोहिल्ला के कुतुबपुर स्थित कार्यालय पहुंचा। जैसे ही रिश्वत की रकम उसने पकड़ी, तुरंत टीम ने उसे रंगे हाथ पकड़ लिया। टीम उसे विजिलेंस कार्यालय लेकर पहुंची, जहां उसके खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज किया गया है।

Chandra Prakash sain
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned