असम के तीन विधायक बदनाम गली के ग्राहक,प्राथमिकी दर्ज,पुलिस जांच जारी

असम के तीन विधायक बदनाम गली के ग्राहक,प्राथमिकी दर्ज,पुलिस जांच जारी

Prateek Saini | Publish: Aug, 12 2018 05:13:33 PM (IST) Guwahati, Assam, India

प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने सैक्स रैकेट चलानेवाली महिला और अन्य दो को गिरफ्तार कर लिया...

पत्रिका ब्यूरो,गुवाहाटी असम के सिलचर में एक सेक्स स्कैन्डल का पर्दाफाश हुआ है। इसमें तीन विधायकों पर बदनाम गली का ग्राहक होने का आरोप लगा है। विधायकों में दो भाजपा और एक एआईयूडीएफ का है। हांलाकि अमीनुल हक लश्कर,किशोर नाथ और निजामुद्दीन चौधरी तीनों विधायकों ने इससे इनकार किया है।

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने सैक्स रैकेट चलानेवाली महिला और अन्य दो को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि अन्य दो फरार हैं। देह व्यापार में धकेली गई दो महिलाओं ने रैकेट चलानेवाले गिरोह के चंगुल से भागकर थाने में तीन प्राथमिकी दर्ज कराई। इन प्राथमिकी रिपोर्टों में महिलाओं ने भाजपा के विधायक अमीनुल हक लश्कर,किशोर नाथ और एआईयूडीएफ के विधायक निजामुद्दीन चौधरी के नामों का उल्लेख किया है। पुलिस मामले की जांच कर रही हैं।


प्राथमिकी रिपोर्टों में अन्य कई नाम भी हैं। प्राथमिकी में महिलाओं ने सिलचर के मेहरपुर के पुष्प बिहार लेन के एक घर से सेक्स रैकेट के चलाने की बात कही है। महिलाओं ने कहा कि प्राथमिकी में दिए गए नामों के व्यक्ति अकसर पुष्प बिहार लेन के इस घर में ग्राहक के तौर पर आते थे।शिकायतकर्ता महिलाओं के अनुसार यह सेक्स रैकेट कम से कम पचास महिलाओं को लेकर चलाया जा रहा है।

इस सेक्स रैकेट में लड़कियां,शादीशुदा महिलाएं और किशोरियां शामिल हैं। यह सभी सिलचर की हैं। एक शिकायतकर्ता महिला ने कहा है कि महिलाओं की खराब वित्तीय हालत का फायदा उठाकर सेक्स रैकेट चलानेवाली महिला और उसके दलाल इन्हें देह के धंधे में धकेल देते हैं। सिलचर के पुलिस अधीक्षक रोशन कुमार ने कहा कि विधायकों पर ग्राहक होने का आरोप लगा है। हम मामले की जांच कर रहे हैं। कानून अपना रास्ता खुद तय करेगा। वहीं विधायक अमीनुल हक लश्कर ने आरोप को खारिज करते हुए कहा है कि 8 दिसंबर 2006 को टोनी मजुमदार नामक एक व्यक्ति ने मेरी हत्या का प्रयास किया था। सेक्स रैकेट चलानेवाली महिला का वह दामाद है। कोई भी भरोसा नहीं करेगा कि जिसने मुझे मारने की कोशिश की उसके सास के घर में जाऊंगा। मैंने पुलिस अधीक्षक से उच्च स्तरीय जांच के लिए कहा है।


विधायक निजामुद्दीन चौधरी का कहना है कि मैं हाजी हूं। कोई भरोसा नहीं करेगा कि मैं इस तरह के काम कर सकता हूं। उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ विरोधी लोग मुझे बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ दिनों पहले ऐसे तत्वों ने ही मुझे बलात्कार मामले में फंसाने की कोशिश की। इसमें मुझे गौहाटी उच्च न्यायालय से अंतरिम जमानत मिल गई है। मुझे लगता है कि सेक्स रैकेट चलानेवाली महिला का इस्तेमाल हमें बदनाम करने के लिए किसी ने किया है।


वहीं विधायक किशोर नाथ का कहना है कि मेरा सार्वजनिक जीवन पूरी तरह पाक साफ है। मैं इस पूरे मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग करता हूं। उधर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि महिला शिकायतकर्ताओं ने 6 अगस्त को सिलचर के रनगिरखारी पुलिस चौकी में मामला दर्ज कराया था। इन्होंने रैकेट को बंद करने में पुलिस का सहयोग मांग और अपनी जान की सुरक्षा की मांग की। सेक्स रैकेट में शामिल पांच लोगों ने गुरुवार को महिला शिकायतकर्ताओं पर चेंगकुरी रोड पर चाकू से हमला किया। इसके बाद महिलाओं ने फिर शिकायत की तो शुक्रवार को तीन गिरफ्तारियां हुई।

Ad Block is Banned