असम में भारी बारिश से ब्रह्मपुत्र सहित अन्य नदियां खतरे के निशान पर

(Assam News ) पिछले एक सप्ताह से लगातार हो रही मूसलाधार (Flood situation in Assam ) बारिश से असम की नदियों में उफान जारी है। जलजनित हादसों में दो लोगों की (2 died due to rain ) मौत हो चुकी है। बारिश से चार जिलों के करीब 40 हजार लोग ( 40 thousand affected from flood ) प्रभावित हुए हैं। इनमें देहामजी, जोरहट, शिवसागर तथा डिबू्रगढ़ जिला शामिल हैं।

By: Yogendra Yogi

Updated: 24 Jun 2020, 07:09 PM IST

गुवाहाटी(असम): (Assam News ) पिछले एक सप्ताह से लगातार हो रही मूसलाधार (Flood situation in Assam ) बारिश से असम की नदियों में उफान जारी है। जलजनित हादसों में दो लोगों की (2 died due to rain ) मौत हो चुकी है। बारिश से चार जिलों के करीब 40 हजार लोग ( 40 thousand affected from flood ) प्रभावित हुए हैं। इनमें देहामजी, जोरहट, शिवसागर तथा डिबू्रगढ़ जिला शामिल हैं। अरुणाचल प्रदेश और असम में हुई भारी बारिश के असर से धीमाजी जिले में भारी बारिश होने से जियाधल नदी का जलस्तर बढ़ गया है। धीमाजी जिले के 21 गांवों में बारिश का पानी बाढ़ का रूप ले चुका है। वहां 10 हजार से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हैं। आगामी दिनों में भारी बारिश का अनुमान है।

खोले राहत शिविर
राज्य सरकार की तरफ से धीमाजी और शिवसागर में राहत शिविर खोले गए हैं। इनमें करीब एक हजार लोगों को रखा गया है। जलजनित हादसों में एक व्यक्ति की मौत नजीरा में और दूसरे की शिवसागर में हुई है। असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने कहा कि असम राज्य और पड़ोसी राज्यों में लगातार बारिश से बाढ़ की दूसरी लहर की चपेट में है। राज्य में लगातार हो रही बारिश के बाद ब्रह्मपुत्र नदी और उसकी सहायक नदियों का जल स्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। असम के अन्य जिलों के अलावा गुवाहाटी में भी ब्रह्मपुत्र नदी का जलस्तर खतरे के निशान से लगातार तेजी से बढ़ रहा है।

ब्रह्मपुत्र व दूसरी नदियां खतरे के निशान पर
ब्रह्मपुत्र नदी जोरहाट पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है, जबकि शिवसागर में दीखू नदी खतरे के निशान से ऊपर है, शिवसागर जिले के नंगलमुरघाट में दिसंग नदी, गोलाघाट जिले में नुमालीगढ़ में धनसिरी नदी, सोनितपुर जिले में एनटी रोड पर जिया भराली नदी हैं। गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र नदी का प्रतिघंटे एक सेमी बढ़ रहा जलस्तर बढ़ रहा है। केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) के अधिकारी जीतमोनी दास ने कहा कि ब्रह्मपुत्र नदी का जल स्तर धीरे-धीरे बढ़ रहा है। पिछली रात से, जल स्तर प्रति घंटे 1 सेमी बढ़ रहा है। अगर बारिश जारी रहती है तो पानी का स्तर और अधिक बढ़ जाएगा।

10 लोगों की हो चुकी है मौत
ब्रह्मपुत्र नदी के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए, कामरूप (मेट्रो) जिला प्रशासन ने गुवाहाटी में नौकाओं, नौका सेवाओं को स्थगित कर दिया है। इस वर्ष बाढ़ की पहली लहर में राज्य में 10 लोगों की मौत हो गई। "कामरूप (मेट्रो) जिले में ब्रह्मपुत्र नदी के जल स्तर में वृद्धि देखी गई है और 2-3 दिनों के भीतर खतरे के स्तर पर बढऩे का अनुमान लगाया गया है, ऐसी परिस्थितियों में नौका सेवाओं को रोक देने से अप्रिय घटनाएं हो सकती हैं जो खतरे का कारण बन सकती हैं।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned