इलेक्शन 2019 स्पेशल...कोकराझाड़ संसदीय सीट पर चतुष्कोणीय मुकाबला

इलेक्शन 2019 स्पेशल...कोकराझाड़ संसदीय सीट पर चतुष्कोणीय मुकाबला
file photo

Prateek Saini | Publish: Apr, 22 2019 06:00:45 PM (IST) Guwahati, Kamrup Metropolitan, Assam, India

कोकराझाड़ संसदीय सीट में कुल मतदाताओं की संख्या 17,65,423 है...

(गुवाहाटी,राजीव कुमार): असम की कोकराझार संसदीय सीट पर मुकाबला चतुष्कोणीय है। इस बार मुकाबला बोड़ो पीपुल्स फ्रंट(बीपीएफ), यूनाईटेड पीपुल्स पार्टी लिबरेल(यूपीपीएल), कांग्रेस और निर्दलीय नव कुमार शरणीया के बीच है। इस सीट से बीपीएफ ने राज्य की मंत्री प्रमिला रानी ब्रह्म को, यूपीपीएल ने उर्खाव ग्वारा ब्रह्म और कांग्रेस ने शब्द राम राभा को मैदान में उतारा है।


कोकराझार संसदीय सीट पर 1957 से 1971 तक चार बार कांग्रेस के डी बसुमतारी, 1977 में निर्दलीय चरण नर्जारी, 1984 में निर्दलीय सत्येंद्र नाथ ब्रह्म चौधरी, 1996 में निर्दलीय लुइस इस्लारी, 1998 से 2009 तक चार बार निर्दलीय सांसुमा खंगूर विश्वमुतियारी जीते। वहीं 2014 के चुनाव में निर्दलीय नव कुमार शरणीया ने जीत हासिल की।

 

कोकराझाड़ संसदीय सीट में कुल मतदाताओं की संख्या 17,65,423 है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 9,00,318 है तो महिला मतदाताओं की संख्या 8,65,066 है। जनसांख्यिकी के हिसाब से मतदाताओं को देखें तो बोड़ो मतदाताओं की संख्या 23 प्रतिशत, बंगाली मतदाता 12 प्रतिशत, मुस्लिम मतदाताओं की संख्या 25 प्रतिशत, असमिया हिंदू मतदाता 8 प्रतिशत, आदिवासी मतदाता 11 प्रतिशत और कोच राजवंशी-शरणीया-राभा-गारो तथा अन्य मतदाता 21 प्रतिशत है।

 

कोकराझाड़ संसदीय सीट में दस विधानसभा सीटें हैं। इनमें गोसाईंगांव, कोकराझाड़ पश्चिम, कोकराझाड़ पूर्व, सिदली, बिजनी, सरभोग, भवानीपुर, तामुलपुर, बरमा और चापागुड़ी शामिल है।दस में से आठ विधानसभा सीटों में बीपीएफ के विधायक हैं तो एक-एक में भाजपा और एआईयूडीएफ के विधायक हैं।

 

यह नौ उम्मीदवार मैदान में

कोकराझाड़ संसदीय सीट से इस बार नौ उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं। इनमें बीपीएफ की प्रमिला रानी ब्रह्म, यूपीपीएल के यू जी ब्रह्म, कांग्रेस के शब्द राम राभा, निर्दलीय नव कुमार शरणीया के अलावा नेशनल पीपुल्स पार्टी के प्रसेनजीत कुमार दास, वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल के राजेश नर्जारी, माकपा के बिराज डेका, पूर्वांचल जनता पार्टी सेकुलर और निर्दलीय रंजय कुमार ब्रह्म शामिल हैं।

 

वर्ष 2014 के चुनाव में निर्दलीय नव कुमार शरणीया को 634428 वोट मिले वहीं दूसरे नबंर पर यू जी ब्रह्म को 278649 मत प्राप्त हुए। मामला पूरा एकतरफा था। वहीं बीपीएफ के चंदन ब्रह्म तीसरे स्थान पर रहे। पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान गैर बोड़ो वोट नव शरणीया को मिले थे।19 गैर बोड़ो संगठनों के संयुक्त मंच ने इस बार नव शरणीया का साथ छोड़ने की घोषणा की है। मतदाता क्या रुख दिखाएंगे यह देखने वाली बात होगी। यूपीपीएल को एआईयूडीएफ ने समर्थन दिया है। उधर यूपीपीएल अलग बोड़ोलैंड के मुद्दे का समर्थक है। बोड़ो वोटों के विभाजन और गैर बोड़ो वोटों के एकजुट होने से नव शरणीया की जीत हो सकती है,पर पिछली बार से जीत का अंतर कम होगा। वहीं बीपीएफ को भाजपा और अगप के वोट मिल सकते हैं। पर यह उसकी जीत को पूरी तरह सुनिश्चित नहीं करते। मुख्य मुकाबला नव शरणीया और यूपीपीएल के यू जी ब्रह्म के बीच ही होने के आसार है। यू जी ब्रह्म को अखिल बोड़ो छात्र संघ का समर्थन हासिल है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned