script1500 artists play tabla together make guinness world record tabla wadan record | वंदे मातरम की धुन पर सजा 'ताल दरबार' का बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, 50 शहरों के 1500 कलाकारों ने एक साथ दी थाप | Patrika News

वंदे मातरम की धुन पर सजा 'ताल दरबार' का बना वर्ल्ड रिकॉर्ड, 50 शहरों के 1500 कलाकारों ने एक साथ दी थाप

locationग्वालियरPublished: Dec 26, 2023 10:26:54 am

Submitted by:

Sanjana Kumar

यहां 1500 तबला वादकों ने एक साथ तबले पर थाप दी। तबले की इस सामूहिक थाप ने एक नया वल्र्ड रिकॉर्ड बनाया और इतिहास में दर्ज हो गई। 22 मिनट तक तबले की थाप की आवाजों से ग्वालियर का किला गूंजता रहा। संगीत साधकों के सम्मान में 25 दिसंबर को मनाया जाएगा तबला दिवस, मुख्यमंत्री ने की घोषणा...

tabal_wadan_world_record_gwalior_news.jpg

ग्वालियर किले पर सोमवार शाम कुछ ऐसी सुरमयी हुई कि नजारा देखते बना। यहां 1500 तबला वादकों ने एक साथ तबले पर थाप दी। तबले की इस सामूहिक थाप ने एक नया वल्र्ड रिकॉर्ड बनाया और इतिहास में दर्ज हो गई। 22 मिनट तक तबले की थाप की आवाजों से ग्वालियर का किला गूंजता रहा। इस दौरान प्रदेश के मुखिया डॉ. मोहन यादव, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया समेत वहां उपस्थित संगीत रसिकों ने इस ऐतिहासिक गूंज का आनंद लिया। बता दें कि डॉ. यादव और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल में मंत्रियों के शपथ ग्रहण समारोह के बाद ग्वालियर पहुंचे थे और कार्यक्रम में भाग लिया था। सीएम यहां करीब 25 मिनट तक रुके।

सीएम ने किया तबला दिवस का ऐलान

कार्यक्रम में पहुंचे सीएम डॉ. मोहन यादव ने कहा, 'सीएम बनने के बाद तानसेन की नगरी में पहली बार आया हूं। यहां तबला वादन देखना अपने आप में अलग ही नजारा है।' सीएम ने इस दौरान ऐलान किया कि मध्यप्रदेश में हर साल 25 दिसंबर को तबला दिवस मनाया जाएगा। इस दौरान ऐसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। 50 शहरों के 1500 कलाकारों ने दी थाप आपको बता दें कि इन दिनों ग्वालियर में तानसेन संगीत समारोह आयोजित किया जा रहा है। यह 99वां तानसेन संगीत समारोह है, जो 28 दिसंबर तक चलेगा।

इस तानसेन समारोह में कोलकाता, मुंबई, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों के करीब 50 शहरों से तबला वादक आए। जिन्होंने एक साथ तबला थाप देकर ग्वालियर किले के दर-ओ-दीवार को आबाद कर दिया। जिसकी गूंज दुनिया भर में पहुंच गई और एक नया वल्र्ड रिकॉर्ड बनाया गया। सीएम ने कहा 'इंद्र की सभा' सीएम डॉ. यादव ने कहा, 'मैं कुंभ की नगरी से आता हूं। हमारे तबला वादकों ने ग्वालियर में आज कुंभ का नजारा दिखा दिया। क्या आनंद आया, आज का दिन देखने के लिए इंद्र भी तरस रहे होंगे। इंद्र की सभा का स्वरूप अगर कहीं दिखाई दिया है तो आज के इस कार्यक्रम में दिखा है। मेरा यहां आना धन्य हो गया।' गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नाम कार्यक्रम में गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड की तीन सदस्यीय टीम भी मौजूद थी। एक साथ इतने कलाकारों के तबला बजाने पर ग्वालियर का नाम गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है। इसका सर्टिफिकेट भी दिया गया।

ट्रेंडिंग वीडियो