scriptA 60-member team of tour operators and guides will come today and see | टूर ऑपरेटर व गाइड का 60 सदस्यीय दल आज आएगा, धरोहरों को देखेंगे, ताकि बढ़ सके पर्यटन | Patrika News

टूर ऑपरेटर व गाइड का 60 सदस्यीय दल आज आएगा, धरोहरों को देखेंगे, ताकि बढ़ सके पर्यटन

locationग्वालियरPublished: Feb 03, 2024 11:21:01 am

Submitted by:

Balbir Rawat

ग्वालियर की समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक धरोहरों पर पहुंचेगी यह फेम ट्रिप, हर के विभिन्न पर्यटन स्थल और ऐतिहासिक विरासत देखने पहुंचेगा यह दल

टूर ऑपरेटर व गाइड का 60 सदस्यीय दल आज आएगा, धरोहरों को देखेंगे, ताकि बढ़ सके पर्यटन
टूर ऑपरेटर व गाइड का 60 सदस्यीय दल आज आएगा, धरोहरों को देखेंगे, ताकि बढ़ सके पर्यटन
अंतरराष्ट्रीय पर्यटन मानचित्र पर ग्वालियर की पहचान बढ़ाने के लिए देशभर के टूर ऑपरेटर व गाइड ग्वालियर आ रहे हैं। 3 से 5 फरवरी के 60 सदस्यीय दल ग्वालियर की धरोहर को देखेंगे। ताकि ग्वालियर में पर्यटक आ सके। यहां की धरोहर की पहचान देश व दुनिया में हो सके। देश व विदेशी पर्यटकों को ग्वालियर लाने के लिए जिला प्रशासन, स्मार्ट सिटी कार्पोरेशन और पर्यटन विभाग द्वारा इस फेम ट्रिप का आयोजन किया जा रहा है।
कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बताया कि इस फेम ट्रिप में देश के अलग-अलग हिस्सों से टूर आपरेटर और टूरिस्ट गाइड की लगभग 60 सदस्यीय आ रहे हैं। दल के सदस्य शहर की ऐतिहासिक धरोहरों सहित पर्यटन स्थलों की सैर करेंगे। ग्वालियर किला, जयविलास पैलेस, मोहम्मद गौस का मकबरा, गुजरी महल व महाराज बाडा सहित अन्य ऐतिहासिक विरासत देखेंगे। तिघरा देशी - विदेशी पक्षियों का कलरव (बर्ड वाचिंग) देखने व सुनने भी पहुंचेंगे। इसके अलावा 3 फरवरी को शाम को इस दल के साथ ग्वालियर पर्यटन को लेकर जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ चर्चा परिचर्चा भी की जाएगी। 4 फरवरी को यह दल सुबह के समय तिघरा मे बर्ड वाचिंग कराई जाएगी। इस फेम ट्रिप का उद्देश्य है कि देश भर के टूर ऑपरेटर व गाइड अपने पर्यटन कैलेंडर के माध्यम से ग्वालियर शहर के पर्यटन स्थलों का भी प्रचार करें, जिससे दुनियाभर के पर्यटक यहां आने के लिए आकर्षित हो सकें। साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ग्वालियर को पर्यटन नक्शे में सम्माननीय स्थान मिल सके।
पिछले सालों में ग्वालियर शहर में पर्यटन को बढावा देने के की कड़ी में कई कार्य कराए गये हैं। साथ ही ग्वालियर की ऐतिहासिक और संगीत व सांस्कृतिक पहचान को पूरे देश व विदेश में पहचान मिल सके।

ट्रेंडिंग वीडियो