scriptClouds surround, there is possibility of thunderstorm and hail at som | बादलों ने की घेराबंदी, 24 घंटे में आंधी बारिश के साथ कहीं-कहीं ओलावृष्टि के आसार | Patrika News

बादलों ने की घेराबंदी, 24 घंटे में आंधी बारिश के साथ कहीं-कहीं ओलावृष्टि के आसार

locationग्वालियरPublished: Feb 03, 2024 10:12:00 pm

Submitted by:

Balbir Rawat

जम्मू कश्मीर में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ से शहर सहित अंचल का मौसम बिगड़ गया है। शनिवार की शाम शहर में काली घटाएं छा गई। इससे बारिश की संभावना बन गई है। सिस्टम उत्तरी गुजरात के पास था। यह राजस्थान होते हुए आगे की ओर बढ़ रहा है। 4 फरवरी को यह ग्वालियर चंबल संभाग के पास से गुजर सकता है, जिससे 40 से 50 किमी प्रतिघंटे की गति से आंधी चलेगी और हवा झोंकेदार रहेगी।

बादलों ने की घेराबंदी, 24 घंटे में आंधी बारिश के साथ कहीं-कहीं ओलावृष्टि के आसार
बादलों ने की घेराबंदी, 24 घंटे में आंधी बारिश के साथ कहीं-कहीं ओलावृष्टि के आसार
बारिश के साथ-साथ कहीं-कहीं पर ओलावृष्टि के आसार जताए हैं। 24 घंटे में बारिश होगी। कृषि वैज्ञानिक का कहना है कि यदि ओलावृष्टि होती है तो चना, सरसों, मसूर को भारी नुकसान होगा। गेहूं को नुकसान आएगा।
शुक्रवार-शनिवार की रात आसमान साफ होने से न्यूनतम तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज हुई। इससे रात में सर्दी की चुभन बढ़ी गई। दिन में धूप निकलने से मौसम बदल गया। शाम 4 बजे आसमान में काली घटाएं छा गई। बारिश जैसी स्थिति बन गई। बादलों के चलते शाम को ठंडक का अहसास हुआ। अधिकतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस (डिसे) दर्ज हुआ। सामान्य से 1.6 डिसे अधिक रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 8.3 डिसे दर्ज हुआ, जो सामान्य से 0.3 डिसे कम रहा।
अरब सागर से आ रही है नमी

  • जम्मू कश्मीर में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। यह काफी मजबूत है। साथ ही गुजरात-राजस्थान के पास में चक्रवातीय घेरा बना है। इसे अरब सागर से नमी मिल रही है। पूर्व दिशा की ओर बढ़ रहा है। राजस्थान, हरियाणा, पंजाब होते हुए उत्तर प्रदेश की ओर जाएगा।
  • राजस्थान, उत्तर प्रदेश से लगे जिले श्योपुर, मुरैना, भिंड में सिस्टम का असर ज्यादा रहेगा। ग्वालियर में मध्यम असर रहेगा। तेज हवा के साथ बारिश व कहीं-कहीं ओलावृष्टि के आसार हैं।
  • क्षोभ मंडल में 140 किमी प्रतिघंटा की गति से जेट स्ट्रीम विंड चल रही है। इस कारण कोहरे के साथ-साथ सर्दी का भी सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि हवा में नमी मौजूद रहेगी।
अधिकतम तापमान- 26.2 डिसे
न्यूनतम तापमान-8.3 डिसेपारे की चाल

समय तापमान

05:30 9.4

08:30 10.6

11:30 21.0

14:30 24.2

17:30 22.4

मजबूत सिस्टम सक्रिय

राजस्थान में मजबूत चक्रवातीय घेरा बना है। इसे अरब सागर से नमी मिल रही है। इसका असर 4 फरवरी को देखने को मिलेगा। इससे बारिश, कुछ समय के लिए 40 से 50 किमी प्रतिघंटा की गति से हवा चलेगी। कहीं-कहीं ओलावृष्टि की भी संभावना है। 5 फरवरी को यह पूर्वी मध्य प्रदेश की ओर बढ़ जाएगा।
डॉ वेदप्रकाश सिंह, रडार प्रभारी मौसम केंद्र भोपाल

बारिश से फसलों को फायदा, ओलावृष्टि से नुकसान

- यदि बारिश होती है तो फसलों को काफी फायदा होगा। बारिश के साथ ओले गिरते हैं तो हर फसल को भारी नुकसान होगा। गेहूं की तुलना में चना व सरसों में सबसे ज्यादा नुकसान होगा।
डा राज सिंह कुशवाह, कृषि वैज्ञानिक

ट्रेंडिंग वीडियो