script कांग्रेस का तंज: बजट भ्रम है, महंगाई और बढ़ेगी, पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस के दाम कम नहीं ! | Congress's taunt on Budget 2024 is an illusion, inflation will increase further | Patrika News

कांग्रेस का तंज: बजट भ्रम है, महंगाई और बढ़ेगी, पेट्रोल-डीजल, रसोई गैस के दाम कम नहीं !

locationग्वालियरPublished: Feb 02, 2024 08:30:30 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

भाजपा ने 2047 के विकास का बजट बताया, कांग्रेस बोली शब्दों का मायाजाल है, आम लोगों को राहत नहीं

1151073-petrol-diesel-price-down.jpg
Budget 2024

ग्वालियर। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को अंतरिम बजट पेश किया। इस बजट को भाजपा ने 2047 तक के भारत का विकास का बजट बताया है। इससे हर किसी का विकास होगा। महिला, किसानों का ध्यान रखा गया है। लोगों के घर का सपना भी पूरा है। 3 करोड़ महिलाएं लखपति दीदी बनेंगी। जबकि कांग्रेस ने मोदी सरकार के अंतरिम बजट को शब्दों का माया जाल बताया है। उनका कहना है कि न आम जनता को राहत ही है। महंगाई को कम करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है। इस बजट से लोगों को कई फायदा नहीं होगा।

महिलाओं का विशेष ध्यान रखा

प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश में 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का लक्ष्य व सभी आंगनबाड़ी, आशा बहनों को आयुष्मान भारत से लाभान्वित करने का निर्णय स्वागत योग्य है। इससे हमारे देश की आधी आबादी और सशक्त होगी। यह बजट वास्तव में सर्वांगीण बजट है। 4047 के रोडमैप को बढ़ावा देगा। इस बजट से समाज का विकास होगा।- ज्योतिरादित्य सिंधिया, केंद्रीय उड्डयन मंत्री

विकसित भारत के लक्ष्य को पूरा करने वाला बजट

यह उत्साहवर्धक बजट है। बजट 2047 तक भारत को विकसित राष्ट्र बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में महत्वपूर्ण साबित होगा। इस बजट में युवा, गरीब, महिला और किसानों का पूरा ध्यान रखा गया है। विकास को गति देने, रोजगार के अवसर बढाने एवं अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में सहायक होगा। इस बजट में महिला सशक्तिकरण की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। लखपति दीदी योजना के तहत 3 करोड महिलाओं को लखपति बनाने का टारगेट रखा है। अंतरिम बजट में घरेलू पर्यटन को बढ़ाने पर फोकस किया गया है।-विवेक नारायण शेजवलकर, सांसद

केन्द्र सरकार का बजट युवा, गरीब, महिला और किसान हितैषी

अंतरिम बजट को युवा, गरीब, महिला और किसान हितैषी है। इस बजट को भारत को विश्व की तीसरी अर्थव्यवस्था बनाने की दिशा में बढ़ा क़दम है। यह बजट विकसित भारत के हर वर्ग को राहत प्रदान करने वाला बजट है। यह देश के निर्माण का बजट है। जिसमें युवा, गरीब, महिला और किसानों पर फोकस किया गया है। इस बजट के जरिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने 2047 के भारत की नींव मजबूत करने की गारंटी दी है। जिसमें गांव,गरीब और हर वर्ग का ध्यान रखा गया है।- प्रद्युम्न सिंह तोमर, ऊर्जा मंत्री

समाज के हर वर्ग के लोगों को ध्यान रखा गया

अंतरिम बजट 'विकसित भारत' के लिए स्थापित किए गए सभी चार स्तंभों किसान, युवा, गरीब और महिलाएं शामिल हैं। पीएम आवास योजना के तहत 2 करोड़ और मकान स्वीकृत करना, 'लखपति दीदी' स्वयं सहायता समूहों के लिए 3 करोड़ की संख्या तय करना, जनकल्याणकारी योजना हैं, जो लोगों का विकास करेंगी। बुनियादी ढांचे के विकास जैसी व्यय योजनाएं भी हैं। यह बजट एक गौरवशाली और वैभवशाली भारत के निर्माण का बजट है। इस बजट में समाज के हर वर्ग के लोगों का ध्यान रखा गया।- अभय चौधरी, शहर अध्यक्ष भाजपा

बजट शब्दों का है मायाजाल, आमनागरिक, किसान, व्यापारी बदहाल

बजट में देश के किसानों, उद्योग, व्यापारी, दुकानदारों और आम नागरिक के लिए कुछ भी नहीं है। आम नागरिक को टैक्स में कोई राहत प्रदान नहीं की गई है केवल टैक्स को मायाजाल मे उलझाया गया है। मोदी सरकार के बजट में बढ़ती मंहगाई पर अंकुश लगाया जाने का कोई प्रावधान नही है। पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस के दामों को कम करने का बजट में कोई ठोस प्रावधान नही दिया गया। किसानों के हित की कोई बात नही है, पढ़े लिखे शिक्षित लोगो को रोजगार देने का कोई स्पष्ट उल्लेख नहीं है।- देवेंद्र शर्मा, शहर अध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी- बजट भ्रम है, इससे महंगाई और बढ़ेगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बजट पेश करने में नाकाम रहे हैं। किसान, गरीब, मध्य वर्ग के लिए कुछ नहीं है। आयकर के स्लैब में बदलाव नहीं किया है। पुरानी चीजों को नया बताया जा रहा है। देश में जो महंगाई बढ़ रही है, उससे जनता को राहत के कदम उठाने थे, लेकिन ऐसा नहीं किया। इस बजट से जनता पर महंगाई का बोझ बढ़ेगा। लोगों की उम्मीदों पर बजट खराब नहीं उतरा है।- डॉ सतीश सिकरवार, विधायक कांग्रेस

ट्रेंडिंग वीडियो