कोरोना वायरस से जुड़ी हुई बड़ी जानकारी आई सामने, म.प्र के इस जिले में हुआ ये

health department doctor of shivpuri district comment on coronavirus : विशेषज्ञ बोले- एक सप्ताह तक कोरोना का खतरा: टूरिस्ट विलेज में नहीं आ रहे विदेशी पर्यटक, ग्रीन व्यू में रुका साउथ अफ्रीका का कपल, नहीं दी जानकारी

By: Gaurav Sen

Published: 07 Mar 2020, 03:50 PM IST

शिवपुरी . कोरोना वायरस का खतरा आगामी एक सप्ताह तक रहने की बात स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कही है। उनका कहना है, जब अधिकतम तापमान 26 से 30 डिग्री के पार चला जाएगा तो यह वायरस स्वत: ही खत्म हो जाएगा।

होलिका दहन के बाद पारा चढऩे की उम्मीद जताई जा रही है। इस बीमारी के डर से टूरिस्ट विलेज में विदेशी सैलानी नहीं आ रहे, जबकि होटल ग्रीन व्यू में रुका साउथ अफ्रीका का कपल गुरुवार को चेक आउट हो गया, लेकिन होटल संचालक ने इसकी जानकारी प्रशासन को नहीं दी। मालूम हो, शिवपुरी में पिछले दिनों जिला अस्पताल में कोरोना वायरस से पीडि़त मरीज का इलाज करने के लिए मॉकड्रिल पिछले दिनों की गई, जिसके माध्यम से स्वास्थ्य विभाग ने यह जताने का प्रयास किया कि हम इस जानलेवा बीमारी से लडऩे के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

इस वायरस से बचाव के लिए मास्क व सेनीटेजर की मांग कुछ ऐसी बढ़ी कि यह सामग्री बाजार से ही गायब हो गई। भले ही इस वायरस का एंटी डोज अभी नहीं बन पाया हो, लेकिन वैज्ञानिकों ने यह तो पता कर लिया है कि यह वायरस कितने तापमान पर सरवाइव करता है, जिसके अनुसार यह वायरस 26 डिग्री सेल्सियस से कम तापमान होने पर पूरी तरह से सक्रिय रहता है।

टूरिस्ट विलेज में नहीं आ रहे विदेशी सैलानी
मप्र टूरिज्म का होटल टूरिस्ट विलेज शिवपुरी के प्राचीन पर्यटन स्थल भदैया कुंड के पास स्थित है। इस होटल में लगभग हर समय इस विदेशी पर्यटक मौजूद रहते हैं, लेकिन जबसे कोरोना का खौफ देश सहित विदेशों में फैला है। इस होटल में विदेशी सैलानियों की आवाजाही पूरी तरह से बंद हो गई। होटल के मैनेजर अतुल अस्थाना ने बताया, पिछले 15 दिन से विदेशी पर्यटक तो दूर देशी सैलानी भी यहां नहीं आए।

ग्रीन व्यू में रुका साउथ अफ्रीका का कपल
शहर से आउट में स्थित होटल ग्रीन व्यू में बीते बुधवार को साउथ अफ्रीका का एक कपल बाइक पर सवार होकर आया था। वह होटल में रुका और गुरुवार को चेक आउट कर गया, लेकिन विदेशी पर्यटकों की जानकारी होटल संचालक ने प्रशासन को नहीं दी। होटल संचालक अनुज अग्रवाल से जब पूछा तो उन्होंने कहा कि साउथ अफ्रीका का कपल आया था, लेकिन इसकी जानकारी प्रशासन को न देने की बात भी उन्होंने कही।

पल-पल बदल रहे मौसम से खतरा बरकरार
यूं तो मार्च माह के प्रथम सप्ताह में ही पारा ऊपर चढऩे लगता था, लेकिन इस बार प्रकृति भी कोरोना के इस खतरे को दूर करने में मददगार साबित नहीं हो रही। आए दिन हो रही बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि के चलते तापमान बढऩे की बजाए कम होता जा रहा है। जब तक मौसम ऐसे ही करवट बदलता रहेगा, तब तक कोरोना का खतरा बरकरार रहेगा। जब तापमान बढ़ेगा तो इसका खतरा कम हो जाएगा।


तापमान पर निर्भर
कोरोना का वायरस तभी तक सक्रिय है, जब तक तापमान 26 डिग्री से कम है। जब तापमान 26 डिग्री से ऊपर जाएगा तो यह वायरस निष्क्रिय होकर खत्म हो जाएगा। होली के बाद तापमान बढ़ता है, इसलिए एक सप्ताह तक इसका खतरा मान सकते हैं।
- डॉ. एएल शर्मा, सीएमएचओ

देना थी सूचना
शहर के किसी होटल में विदेशी पर्यटक आते हैं तो सूचना होटल संचालक को देना जरूरी है। यदि होटल ग्रीन व्यू में विदेशी सैलानी रुके थे तो होटल प्रबंधन को इसकी सूचना देना चाहिए थी। हम होटल का रिकॉर्ड चेक करवाते हैं।
- डॉ. दिनेश राजपूत, नोडल अधिकारी, एंटी कोरोना विंग शिवपुरी

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned