VIDEO: सिंधिया समर्थक ने की खुद को आग लगाने की कोशिश, सिंधिया कार में बैठे उसे रोकते रहे

VIDEO: सिंधिया समर्थक ने की खुद को आग लगाने की कोशिश, सिंधिया कार में बैठे उसे रोकते रहे
jyotiraditya scindia follower attempt suicide in front of him

Gaurav Sen | Updated: 03 Sep 2019, 11:54:23 AM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

jyotiraditya scindia follower attempt suicide in front of him: सिंधिया समर्थक आंनद अग्रवाल पानी की बोटल में पेट्रोल लेकर उनकी गाड़ी के आगे आ गया और खुद को जलाने की कोशिश करने लगा। जिसे देख सिंधिया गाड़ी में बैठे हुए हाथ हिला कर मना करते हुए दिखाई दिए। अन्य लोगों ने उस व्यक्ति से बोटल छुड़ाई और उसे पकड़ कर गाड़ी से दूर ले गए।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर पुहंच गए हैं। वे यहां सुबह शताब्दी एक्सप्रेस से ग्वालियर पहुंचे। ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर सैंकड़ों की संख्या में मौजूद सिंधिया समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया। सिंधिया जिंदाबाद के नारे लगाऐ। इसी बीच एक घटना घट गई। एक सिंधिया समर्थक आंनद अग्रवाल पानी की बोटल में पेट्रोल लेकर उनकी गाड़ी के आगे आ गया और खुद को जलाने की कोशिश करने लगा।

जिसे देख सिंधिया गाड़ी में बैठे हुए हाथ हिला कर मना करते हुए दिखाई दिए। अन्य लोगों ने उस व्यक्ति से बोटल छुड़ाई और उसे पकड़ कर गाड़ी से दूर ले गए। इस समय सिंधिया के नाम पूरे देश में कांग्रेस को चर्चा में ला दिया है। म.प्र में सिंधिया को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की मांग चल रही है। सिंधिया समर्थक खुल कर सोनियां गांधी को पत्र लिखकर कर, होर्डिंग के जरिए व अन्य माध्यमों से अपनी बात पहुंचा रहे हैं।

सिंधिया ने भी एक वीडियो जारी करके कहा था

उसूलों पर आंच आए तो टकराना जरूरी है
हो अगर जिंदा तो जिंदा नजर आना जरूरी है

सिंधिया ग्वालियर में कुछ कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए आए हैं। वे यहां कुछ समर्थकों से भी मिलने के लिए उनके घर जाएंगे।

यह भी पढ़ें: ज्योतिरादित्य सिंधिया का कमलनाथ सरकार पर हमला, कहा- प्रदेश में अभी भी हो रहा है अवैध उत्खनन

सिंधिया ने कहा

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अवैध रेत खनन को लेकर प्रदेश सरकार का नाम तो नहीं लिया लेकिन उन्होंने ये जरूर कहा कि अवैध खनन का नहीं रूक पाना दुर्भाग्यपूर्ण है। बता दें कि इससे पहले कमलनाथ सरकार के मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने भी अवैध खनन को लेकर सरकार पर हमला बोला था। उन्होंने कहा था कि रेत खनन के लिए एक-एक थाने से 50 से 60 लाख रूपए तक लिए जाते हैं और ये रुपए ऊपर तक जाते हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस बयान के बाद से सियासत तेज हो गई है। उन्होंने कहा- मुझे दुख है कि अभी भी अवैध उत्खनन हो रहा है। जबकि हमने चुनाव प्रचार में साफ तौर पर कहा था अवैध उत्खनन कांग्रेस सरकार में नहीं होगा। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned