अब खुद परीक्षाएं करा सकेगा एमएलबी कॉलेज

अब खुद परीक्षाएं करा सकेगा एमएलबी कॉलेज
अब खुद परीक्षाएं करा सकेगा एमएलबी कॉलेज

Harish kushwah | Updated: 06 Oct 2019, 09:17:42 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एमएलबी कॉलेज को स्वशासी (ऑटोनोमी) कर दिया है। अब यह कॉलेज स्वयं छात्रों की परीक्षा कराएगा, उनके परिणामों की व्यवस्था भी यहीं होगी और पाठ्यक्रम भी कॉलेज अपने स्तर पर तैयार कर सकेगा।

ग्वालियर. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने एमएलबी कॉलेज को स्वशासी (ऑटोनोमी) कर दिया है। अब यह कॉलेज स्वयं छात्रों की परीक्षा कराएगा, उनके परिणामों की व्यवस्था भी यहीं होगी और पाठ्यक्रम भी कॉलेज अपने स्तर पर तैयार कर सकेगा। अब तक इसके लिए कॉलेज को जीवाजी विश्वविद्यालय के भरोसे रहना पड़ता था। फिलहाल कॉलेज को 10 साल के लिए स्वशासी किया गया है, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग आगे इसे बढ़ा भी सकता है।

एमएलबी कॉलेज 1992 से 2002 तक स्वशासी था। फिर स्वशासी किए जाने के लिए कॉलेज प्रबंधन ने करीब एक साल पहले यूजीसी को प्रस्ताव भेजा था। इस सत्र में यूजी प्रथम वर्ष के बीए, बीकॉम, बीबीए और बी.लिब में स्वशासी की शुरुआत होगी। इन कोर्सों की परीक्षाएं कॉलेज कराएगा, परिणाम भी कॉलेज निकालेगा, इसके अलावा जरूरत पड़ी तो पाठ्यक्रम में परिवर्तन भी किया जाएगा। इसके लिए गवर्निंग बॉडी बनानी होगी।

5000 छात्र पढ़ते हैं

एमएलबी कॉलेज में 5000 छात्र अध्ययनरत हैं। इनमें 1500 छात्र यूजी प्रथम वर्ष में हैं। इन छात्रों के लिए स्वशासी इस साल शुरू कर दी जाएगी। इन छात्रों की परीक्षाएं कराने और परिणाम घोषित करने का काम कॉलेज द्वारा किया जाएगा। एमएलबी कॉलेज की बिल्डिंग उच्च शिक्षा के लिए तैयार करवाई गई थी, जिसका पूर्व में नाम विक्टोरिया कॉलेज रखा गया था। यहां पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी पढ़ चुके हैं। इस बिल्डिंग को तैयार करने में सेंड स्टोन ब्रिक्स का उपयोग किया गया था, जो आज तक वैसा का वैसा ही है। इसका डिजाइन आर्किटेक्ट ब्रिटिश सर जॉन ने तैयार किया था, जिसे स्व.माधौराव सिंधिया ने खास तौर से बुलवाया था।

एक साल पूर्व एमएलबी कॉलेज को स्वशासी (ऑटोनोमी) किए जाने के लिए यूजीसी को प्रस्ताव भेजा गया था, जिस पर कॉलेज को स्वशासी का दर्जा दिया गया है। अभी इस सत्र में यूजी प्रथम वर्ष के बीए, बीकॉम, बीबीए और बी.लिब के लिए स्वशासी की शुरुआत की जाएगी। इन कोर्सों की परीक्षाएं कॉलेज कराएगा व परिणाम भी घोषित करेगा।

प्रो.केएस राठौर, प्राचार्य, एमएलबी कॉलेज

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned