दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बची संपर्क क्रांति,ड्राइवर ने लगाए इमरजेंसी ब्रेक

दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बची संपर्क क्रांति,ड्राइवर ने लगाए इमरजेंसी ब्रेक

monu sahu | Publish: Apr, 22 2019 01:16:18 PM (IST) Gwalior, Gwalior, Madhya Pradesh, India

दुर्घटनाग्रस्त होते-होते बची संपर्क क्रांति,ड्राइवर ने लगाए इमरजेंसी ब्रेक

ग्वालियर। सिथौली-संदलपुर के बीच रविवार की सुबह पीडब्लूआई की लापरवाही के चलते बड़ी दुर्घटना होते-होते बच गई। संपर्क क्रांति ट्रेन ग्वालियर स्टेशन से झांसी की ओर निकली थी। ट्रेन जब सिथौली और संदलपुर के बीच में सुबह लगभग 10.52 बजे पहुंची थी तभी पीडब्ल्यूआई संजय कुमार गुप्ता के कहने पर गेटमैन नीलेन्द्र कुमार ने थ्रू गाड़ी को रोकने सिग्लन ब्रेक लाल करने को कहा और गेटमैन ने तुरंत सिग्नल लाल कर दिया। इससे स्पीड में आ रही संपर्क क्रांति के ड्राइवर ने तुंरत इमरजेंसी ब्रेक लगा दिए।

 

इसके बाद ट्रेन गेट नंबर 412 के बीच में किलोमीटर 1212 का खंभा नंबर 41 से 39 के बीच में खड़ी हो गई। ट्रेन के अचानक रुकने की जानकारी मिलते ही सिथौली और संदलपुर के स्टेशन मास्टरों के होश उड़ गए। ट्रेन क्यों रोकी गई इसके बारे में किसी के पास कोई जवाब नहीं था। ट्रेन यहां 3 से 4 मिनट तक खड़ी रही।

 

हो सकता था हादसा
पीडब्ल्यूआई की लापरवाही के चलते अचानक ब्रेक लगाने से ट्रेन पलटने या पटरी से उतरने जैसी बड़ी घटना भी हो सकती थी। जिसमें जनहानि भी हो सकती थी।

 

स्टेशन मास्टर ने सूचना दी थी गेटमैन को
ग्वालियर स्टेशन से ट्रेन निकलने के बाद ट्रेन सिथौली से संदलपुर के बीच जाने लगी तो सिथौली स्टेशन मास्टर ने गेटमैन को सूचना दी। स्टेशन मास्टर की सूचना के बाद ही गेटमैन ने ट्रेन को निकलने के लिए सिग्नल को हरा कर दिया लेकिन अचानक पीडब्लूआई की सूचना पर गेटमैन ने सिगनल को लाल कर दिया।

 

"सिथौली संदलपुर के बीच में इस तरह की घटना हुई है तो यह बड़ी लापरवाही है। इस मामले की जांच कराई जाएगी।"
मनोज कुमार सिंह,पीआरओ झांसी मंडल

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned