घर में बनाते गांव में बेचते थे देसी शराब

पुलिस को शराब तस्करों ने धमकाया पकडा तो मर जाएंगे
घर में छिपी रखी मिली शराब
देसी शराब बनाने का कारोबार पकडा

By: Puneet Shriwastav

Published: 15 Jan 2021, 12:02 AM IST

ग्वालियर। देसी शराब बनाने और उसे गांव खपाने वाले दो शराब कारोबारी पकडे गए हैं। उनसे करीब 110 लीटर देसी शराब और तमाम खाली वारदाना मिला है।

दोनों तस्करों ने रंगे हाथ पकडे जाने पर सुसाइड करने की धमकी देकर बेचने की कोशिश भी की। लेकिन पैंतरा काम नहीं आया। दोनों को बनी हुई शराब और वारदने के साथ पुलिस उठा लाई।


पुलिस ने बताया देसी शराब बनाने और गांव बेचने का धंधा नौगांव, कंपू में पकडा गया है। नशे का अवैध कारोबार पप्पू गुर्जर और उसका रिश्तेदार देवेन्द्र गुर्जर करते मिले हैं।

मुरेना में जहरीली शराब पीने से 2४ लोगों की मौत का मामला सामने आने पर शहर में भी देसी शराब बनाने और बेचने वालों को ढूंढा जा रहा है। रात को पता चला कि नौगांव में पप्पू और देवेन्द्र घर में चोरी छिपे देसी शराब बना रहे हैं। उसे गांव में ही खपा रहे हैं।

अवैध कारोबार किसी की नजर में नहीं आए इसलिए घर के मेनगेट पर ताला डाल रखा है। सूचना पर पप्पू के ठिकाने पर दविश दी तो वह घर से कुछ दूरी पर देसी शराब की खेप के साथ मिल गया। पुलिस को सामने देखकर शराब छोडकर घर में घुसने की कोशिश् की।

पकडा गया तो शोर मचा कर गांववालों और महिलाओं का मजमा लगा लिया। धमकिंयां दी कि अगर पुलिस उसे थाने ले गई मर जाएगा। सबको फंसा देगा।

उसकी तमाम कोशिश बेकार गईं। उसे दबोच लिया। घर की तलाशी तो देवेन्द्र गुर्जर भी शराब की खेप के साथ छिपा मिल गया। दोनों से करीब 110 लीटर देसी शराब और 138 खाली क्वार्टर मिले हैं।
महंगे कर दिए थे दाम
शराब तस्करों ने खुलासा किया मुरेना में जहरीली शराब से मौते होने के बाद देसी शराब बनाने वाले अंडरग्राउंड हैं। इसका फायदा उठा रहा था। उसकी बनाई शराब की सप्लाई बढ गई थी।

किसी को आभास नहीं हो इसलिए घर का एक कमरा बंद कर दिया था। उसमें ही देसी शराब की पैकिंग कर उसे रात को सप्लाई कर रहा था।

Puneet Shriwastav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned