खुली आंखों से सपने देख इबारत लिख रहे विकास, लिख चुके स्टॉक मार्केट की 29 सीरीज

गूगल ने भी कुछ सीरीज को टॉप वन तो कुछ को टॉप टेन में दी जगह

By: Mahesh Gupta

Published: 23 Feb 2021, 11:52 PM IST

प्लानिंग फेल हुई, सपने बिखरे, लेकिन नहीं टूटा हौसला
ग्वालियर.

यदि आपने खुली आंखों से सपने देखे हैं और उसे पूरा करने की जिद रखते हैं, तो आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता। फिर चाहे कितनी भी परेशानियां या मुश्किलें क्यों न आ जाएं। ऐसा ही कुछ हुआ शहर के विकास शर्मा के साथ। उनके सामने कॉलेज टाइम से लेकर कुछ साल पहले तक कई ऐसे मोड़ आए, जब उनकी प्लानिंग फेल हुई, वे परेशान भी हुए, लॉस में भी गए, लेकिन उन्होंने सपने देखने बंद नहीं किए और कड़ी मेहनत के बाद आज स्टॉक मार्केट में उनकी सिरीज नंबर वन पर है, जिसमें 29 बुक रिपोर्ट (इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड, एंटी मनी लॉन्ड्रिंग, टेस्ट सीरीज शॉर्ट नोट्स ) शामिल हैं। यह उनकी 4 साल की दिन-रात की मेहनत है। वेबसाइट 'फाइनेंशियल स्ट्रीटÓ की सफलता में उनका साथ दिया है चीफ टेक्निकल ऑफिसर गौरव शर्मा ने। दोनों साथ मिलकर विकास की नई इबारत लिख रहे हैं। जल्द ही वह फाइनेंशियल मार्केट ट्रेनिंग एंड मेंबरशिप प्रोग्राम लांच करने जा रहे हैं।

बीसीए में शिफ्ट होते ही फेल हो गई प्लानिंग
विकास ने बताया मैंने बीआइटी (बैचलर ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी) में जीआइसीटीएस ग्वालियर में एडमिशन लिया। सेकंड ईयर में पहुंचते ही यूजीसी ने कोर्स की मान्यता खत्म कर दी। हमें बीसीए में शिफ्ट किया गया, लेकिन मेरा प्लानिंग फेल हो गई। एमबीए के लिए कैट दिया तो परसेंटाइल अच्छे नहीं आए। तब इस फील्ड से मन हट गया। अब कुछ ऐसा करना था, जो एकदम अलग और चैलेंजिंग भरा हो। उसकी तलाश में लग गया।

मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव से फर्म शुरू करने तक का सफर
फ्रेंड के कहने पर जयेन्द्रगंज में स्टॉक मार्केट की फर्म में मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव की पोस्ट पर जॉइन किया। सेलरी बहुत कम थी, लेकिन इसमें मुझे कॅरियर नजर आया। मैं जॉब छोड़ और बड़ा करने के लिए मुंबई जाकर स्टॉक मार्केट का कोर्स किया। नोएडा में रिसर्च एनालिस्ट के अंडर जॉब करने का मौका मिला। सीखने के बाद जॉब छोड़ी और 2012 में खुद की फर्म शुरू कर दी।

टेक्नोलॉजी की नॉलेज न होने से फेल हो गया
स्टार्टअप शुरू करने के लिए घर वाले एग्री नहीं थे। वेबसाइट तैयार तो कर ली, लेकिन टेक्नोलॉजी की नॉलेज नहीं थी। वहां पर फेल हो गया। उसे समझने के लिए एजुकेशन पर फोकस किया। इसमें काफी समय लगा, लेकिन सफलता हाथ लग गई। इसके बाद स्टॉक मार्केट की सीरीज लांच की, जिसमें 4 साल का समय लगा।


सपने को सच करने साथ दे रहे गौरव
विकास अभी यहीं रुकना नहीं चाहते। उनका सपना स्टॉक स्केनर लांच करने का है और इस सपने को सच करने में साथ दे रहे हैं उनके जूनियर गौरव शर्मा। गौरव कुछ समय पहले इस प्रोजेक्ट को जॉइन किया है। इसके पहले वह बैंगलूरु में जॉब कर रहे थे।

Mahesh Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned