जन्म लेने से पहले पिता ने छोड़ा साथ, हादसे ने छीन ली जिंदगी

monu sahu

Publish: Dec, 07 2017 07:41:44 (IST)

Gwalior, Madhya Pradesh, India
जन्म लेने से पहले पिता ने छोड़ा साथ, हादसे ने छीन ली जिंदगी

युवक अपनी पत्नी को प्रसव के लिए अस्पताल भेजने के बाद बाइक से आ रहा था तभी उसकी बाइक एक टैंकर से टकरा गई

ग्वालियर। मां की कोख में मौजूद उस मासूम को क्या पता ईश्वर ने उसके भाग्य में क्या लिख दिया है कि उसके जन्म लेने से पहले ही उसके सिर से पिता का साया उठ जाएगा। ऐसी ही दु:खद घटना मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात करीब ३ बजे घटित हुई। जब एक युवक अपनी पत्नी को प्रसव के लिए अस्पताल भेजने के बाद बाइक से आ रहा था तभी उसकी बाइक एक टैंकर से टकरा गई जिससे युवक की मौत पर ही मौत हो गई। जबकि बाइक पर पीछे बैठी उसकी चाची गंभीर रूप से घायल हो गई,जिसे ग्वालियर रैफर किया गया है। छिकाऊ निवासी सुनील (२४) पुत्र मोतीलाल जाटव की पत्नी वंदना गर्भवती थी और उसकी डिलीवरी होनी थी।

यह भी पढ़ें: पटवारी परीक्षा नौ दिसंबर से,18 दिन लगातार हजारों कैंडिडेट्स देंगे एग्जाम,ये है EXAM के नियम

मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात वंदना को प्रसव पीड़ा हुई तो सुनील ने १०८ एंबुलेंस को बुलाकर पत्नी वंदना और अपनी मां समेत परिवार की महिलाओं को इंदरगढ़ अस्पताल के लिए रवाना किया और स्वयं बाइक से अपनी चाची फूलवती को बैठाकर जब अस्पताल आ रहा था और गांव से निकला ही था कि ग्राम ररुआराय पर रोड पर खड़े पानी के टैंकर से उसकी बाइक टकरा गई।

यह भी पढ़ें: पटवारी एडमिट कार्ड जारी,तीन दिन पहले ही पता चल सकेगा कहां है सेंटर,जल्द देखें अपनी EXAM DATE

इससे सुनील की मौके पर ही मौत हो गई और बाइक पर पीछे बैठी उसकी चाची फूलवती (४५) पत्नी विजयराम गंभीर रूप से घायल हो गई। तभी घायल को इंदरगढ़ अस्पताल लाया गया जहां से प्राथमिक उपचार के बाद फूलवती को ग्वालियर रैफर कर दिया गया। इंदरगढ़ थाना पुलिस ने टैंकर को जब्त कर युवक की मौत पर मर्ग कायम कर लिया है।

यह भी पढ़ें: गजब है एमपी : पांच लाख लोगों की सुरक्षा कर रहे हैं 48 पुलिसकर्मी

एक साल पहले हुई थी शादी
मृतक सुनील की एक साल पहले ही शादी हुई थी। वह इंदरगढ़ में एक किराने की दुकान पर काम करता था। उसकी पत्नी को पहली डिलीवरी होना थी और वह इंदरगढ़ अस्पताल आ रहा था।

 

अंधेरा होने के कारण सामने से आ रहे वाहन की तेज रोशनी के चलते वह रोड पर खड़े टैंकर को देख नहीं पाया और बाइक टैकर से टकरा गई और उसकी मौत हो गई। तथा उसकी चाची के सिर में चोट आने से उसे ग्वालियर रैफर कर दिया गया।

 

पीएम नहीं कराना चाहते थे परिजन
सड़क दुर्घटना में मृत सुनील के परिजन उसके शव का पीएम नहीं कराना चाहते थे। इसके लिए परिजनों ने पुलिस को पीएम न कराने का पंचनामा भी दिया था। पर पुलिस की समझाइश के बाद दुखी परिवार पीएम कराने के लिए राजी हो गए।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned