मानसून से पहले ही मानसून सा नजारा, हनुमानगढ़ में 37 एमएम बारिश

Purushotam Jha | Publish: Apr, 17 2019 10:56:00 AM (IST) Hanumangarh, Hanumangarh, Rajasthan, India


हनुमानगढ़ जिले में मानसून से पहले ही मानसून सा नजारा देखने को मिल रहा है। हालत यह है कि लगतार तीसरे दिन बुधवार को बारिश का दौर जारी रहा। मंगलवार शाम को सर्वाधिक बारिश हनुमानगढ़ में ३७ एमएम दर्ज की गई। कुछ जगह ओलावृष्टि भी हुई। मेघ गर्जना के साथ कुछ जगह आसमानी बिजली भी खूब चमकी। कई जगह अंधड़ से बिजली लाइनों में फाल्ट आ गया। इससे पूरी रात बिजली आपूर्ति ठप रही। इससे कई जगह पेयजल आपूर्ति भी प्रभावित हुई। दूसरी तरफ खराब मौसम के कारण रबी फसलों को काफी नुकसान होने की खबर है। जिसका आकलन करने में कृषि विभाग जुटा हुआ है। खराबा कितना हुआ है, इसका तथ्यात्मक आंकड़ा जुटाने में कृषि विभाग की टीम लगी हुई है। इसे लेकर सर्वे टीम गठित कर दी गई है। कृषि विभाग के उप निदेशक दानाराम गोदारा के अनुसार गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचने की आशंका है। कुछ जगह चने के आकार के ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ है। विभागीय टीम नुकसान का जायजा ले रही है। तीन दिनों से अचानक मौसम के बदलने के कारण किसान बेचैन हैं। हालत यह है कि मंडियों में रखी गेहूं व सरसों की फसल भीग गई है। इसके काराण फसलों में नमी की मात्रा बढ़ गई है। जंक्शन व टाउन मंडी में किसान गेहूं की फसल लेकर बेचने के लिए पहुंच रहे हैं। कुछ किसान तो चार से पांच दिन से मंडी में खरीद का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन नमी अधिक होने के कारण फसलों की खरीद नहीं हो पा रही। ऐसे में अब बारिश होने से फसलों में नमी और बढ़ जाएगी। कुछ किसान तो मंडी को घर बनाए हुए हैं। फसल के पास ही खुले आसमान के नीचे वह रात गुजारने को मजबूर हो रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned