नशीली दवा तस्करों पर नकेल कसने का दावा, फिर भी तस्कर नहीं आ रहे काबू

Adrish Khan | Publish: Nov, 10 2018 11:48:35 AM (IST) Hanumangarh Jn., Hanumangarh, Rajasthan, India

नशीली दवा तस्करों पर नकेल कसने का दावा, फिर भी तस्कर नहीं आ रहे काबू
- जिले में निरंतर हो रही नशीली दवा पकडऩे की कार्रवाई
- तीन माह में 25 से अधिक मामले दर्ज
- पुलिस की सख्ती के बावजूद नहीं मान रहे तस्कर
हनुमानगढ़. पुलिस नशीली दवा तस्करों पर नकेल कसने का दावा कर रही है। उसकी यह बात पिछले तीन माह में 25 से अधिक दवा तस्करी के मामले पकडऩे की कार्रवाई देखें तो पुलिस का दावा सही लगता है। मगर इस सख्ती के बावजूद नशीली दवा के तस्कर बाज नहीं आ रहे। चिंताजनक स्तर तक बढ़ चुके मेडिकेटेड नशे के खिलाफ चल रहे विशेष अभियान के तहत टाउन इलाके से देर रात 790 नशीले कैप्सूल जब्त किए गए। एंटी नारकोटिक्स टीम व टाउन पुलिस ने संयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए टिब्बी रोड पर एसआरएम स्कूल के पास चार जनों के कब्जे से नशीले कैप्सूल बरामद किए। चारों जने एक ही बाइक पर सवार थे। वे हनुमानगढ़ धान मंडी की तरफ जा रहे थे। पकड़े गए चार जनों में से एक बाल अपचारी है। जबकि शेष तीनों आरोपितों को एनडीपीएस एक्ट में गिरफ्तार कर मंगलवार सुबह कोर्ट में पेश किया गया। दवा की खरीद-फरोख्त संबंधी पड़ताल के लिए उनका पुलिस रिमांड मंजूर कराया गया। बाल अपचारी को किशोर सुधार गृह भिजवा दिया गया।

 


पुलिस के अनुसार मुखबिर की सूचना पर टिब्बी रोड पर एसआरएम स्कूल के पास नाकाबंदी की गई। इस दौरान एक बाइक पर सवार 4 लडक़े आए। संदिग्ध लगने पर उनको रुकवाया तथा पूछताछ की। संदेह होने पर उनकी तलाशी ली तो चारों के पास कुल 790 प्रतिबंधित पारवन स्पास कैप्सूल बरामद हुए। उनकी खरीद व भंडारण आदि को लेकर वे संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए। आरोपितों की पहचान जोगराज सिंह (32) पुत्र रामकिशन ओड निवासी नवां, इलियास खान (34) पुत्र अल्लादीन निवासी कलालों का मोहल्ला टाउन व सुभाष सुथार पुत्र चानणराम सुथार निवासी रामसरा नारायण के रूप में हुई। जबकि चौथा लडक़ा बाल अपचारी होने के कारण उसे निरुद्ध किया गया। कार्यवाही टाउन थानाप्रभारी विष्णुदत्त बिश्नोई के नेतृत्व में उपनिरीक्षक रामकेश मीणा, रीडर संदीप कूकणा, महावीर, बलेन्द्र सिंह आदि ने की। गौरतलब है कि जिले में एसपी के निर्देश पर नशे के खिलाफ विशेष अभियान चल रहा है। पिछले साढ़े तीन माह में इस अभियान के तहत तीन दर्जन से अधिक कार्यवाही की जा चुकी है। इनमें से अधिक मामले नशीली दवा तस्करी के ही हैं। आरोपितों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि नशीली दवा की खरीद टाउन क्षेत्र से ही की थी। रात को इसकी सप्लाई देने जा रहे थे। पुलिस आरोपितों से मुख्य सप्लायर को लेकर पूछताछ कर रही है। मामले की जांच जंक्शन थाना प्रभारी पुष्पेन्द्र झाझडिय़ा को सौंपी गई है।
फिर नहीं मान रहे
जिले में एसपी अनिल कयाल के निर्देश पर नशे पर लगाम लगाने के लिए विशेष अभियान चल रहा है। नशा बिक्री की सूचना देने के लिए पुलिस ने व्हाट्सअप नम्बर 76860-34444 जारी कर रखा है। इस अभियान के तहत पुलिस धड़ाधड़ कार्यवाही अंजाम दे रही है। सबसे अधिक मामले तो नशीली दवा के ही पकड़े गए हैं। उसके बाद पोस्त व अफीम बरामदगी की कार्रवाई की गई है। आंकड़ों की बात करें तो पिछले बरस पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के तहत 67 कार्यवाही की गई थी। इस वर्ष यह आंकड़ा अब तक 75 से ऊपर पहुंच गया है। इनमें से भी आधे से अधिक कार्रवाई जुलाई के बाद ही की गई है। जाहिर है कि तस्करों के खिलाफ सख्ती तो बरती जा रही है। मगर इसके बावजूद तस्कर बाज नहीं आ रहे।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned