कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष को आया गुस्सा तो ऐसे मचाया तांडव

कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष को आया गुस्सा तो ऐसे मचाया तांडव
शिलान्यास पट्टिका में नाम नहीं होने से छात्रसंघ अध्यक्ष ने किया अभद्र व्यवहार, कॉलेज प्रशासन ने सात दिन के लिए किया निलंबित, राजकीय एनएम पीजी कॉलेज में मचाया तांडव


कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष को आया गुस्सा तो ऐसे मचाया तांडव
शिलान्यास पट्टिका में नाम नहीं होने से छात्रसंघ अध्यक्ष ने किया अभद्र व्यवहार, कॉलेज प्रशासन ने सात दिन के लिए किया निलंबित
- राजकीय एनएम पीजी कॉलेज में मचाया तांडव

हनुमानगढ़. टाउन स्थित राजकीय एनएम पीजी कॉलेज में शिलान्यास पट्टिका में नाम नहीं होने से बुधवार को छात्रसंघ अध्यक्ष व उसके साथियों ने तोडफ़ोड़ कर अभद्र व्यवहार किया। इसके चलते कॉलेज प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए छात्र संघ अध्यक्ष विकास खिलेरी को सात दिन के लिए कॉलेज से निलंबित किया गया है और इसके उपरांत छात्रसंघ अध्यक्ष को अनुशासन समिति के समक्ष लिखित में स्पष्टीकरण भी देना होगा। इसके अलावा कॉलेज प्राचार्य नरेंद्र भांभू की ओर से टाउन थाने में मुकदमा दर्ज करने के लिए परिवाद भी दिया गया। हालांकि टाउन थाने कॉलेज प्रशासन की शिकायत पर छात्रसंघ अध्यक्ष सहित चार अन्य छात्र को 151 के तहत पांबद किया है। कॉलेज प्रांगण में जलपान गृह का शिलान्यास व स्टोर निर्माण के लिए भूमि पूजन प्रस्तावित था। कार्यक्रम दोपहर बारह बजे के करीब शुरू हुआ। इसमें मुख्य अतिथि विधायक विनोद कुमार, सभापति गणेशराज बंसल, उपसभापति अनिल खीचड़, पार्षद तरूण विजय थे। जानकारी के अनुसार इस कार्यक्रम के पश्चात छात्र संघ अध्यक्ष ने कॉलेज प्रांगण में पहुंचकर कार्यक्रम की सूचना नहीं देने व शिलान्यास पट्टिका पर नाम नहीं होने पर आपत्ति जताई। इस पर प्राचार्य ने सफाई दी कि सभी को कार्यक्रम की सूचना दी गई थी। इसके कुछ ही देर बाद छात्रसंघ अध्यक्ष विकास खिलेरी ने एक स्टाफ की बाइक व कार को नुकसान पहुंचाया और अभद्र व्यवहार किया। इसके बाद कॉलेज प्रशासन ने आनन-फानन में प्राचार्य कक्ष में स्टाफ काउंसिल की बैठक बुलाकर छात्रसंघ अध्यक्ष विकास खिलेरी के अशोभनीय व्यवहार को देखते हुए तत्काल प्रभाव से सात दिवस के लिए निलंबित किया। घटना की जांच महाविद्यालय की अनुशासन समिति से करवाने का निर्णय लिया गया।

कॉलेज प्रशासन का आरोप, महिला स्टाफ के साथ भी किया अभद्र व्यवहार
राजकीय नेहरु मेमोरियल महाविद्यालय के प्राचार्य नरेंद्र भांभू ने टाउन थाने में मामला दर्ज कराने के लिए परिवाद भी दिया है। परिवाद में लिखा कि समारोह 12 बजे प्रारम्भ हुआ था। इसकी सूचना महाविद्यालय विकास समिति डॉ. एमडी शर्मा की ओर से छात्रसंघ पदाधिकारियों को विशेष रूप से दी गई। इसमें छात्रसंघ अध्यक्ष विकास खिलेरी, उपाध्यक्ष विनोद कुमार, संयुक्त सचिव ममता व महासचिव कांता रानी व अन्य अतिथियों को पूर्व में दे दी गई थी। प्राचार्य ने परिवाद में बताया कि छात्रसंघ अध्यक्ष विकास खिलेरी, असामाजिक तत्व व बाहरी विद्यार्थियों सहित समारोह स्थल पर दोपहर 12:32 मिनट पर पहुंचा और उसने प्राचार्य को कहा कि आपने मेरा इंतजार क्यों नहीं किया व समारोह की सूचना नहीं दी और उसने कहा कि उसके बगैर यह समारोह कैसे सपन्न हो सकता है। इस दौरान उपस्थित अतिथियों, प्राचार्य व स्टाफ की महिला सदस्यों के साथ अपशब्द का प्रयोग करते हुए बदसलूकी तथा राजकार्य में बाधा पहुंचाई तथा महाविद्यालय परिसर में अशांति एवं भय का माहौल बना दिया। प्राचार्य ने आरोप लगाया कि छात्रसंघ के साथ एकत्रित छात्रों ने मोटरसाइकिल व एक कार को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसके पश्चात प्राचार्य कक्ष में अशोभनीय भाषा का प्रयोग करते हुए जबरदस्ती धौंस जमाकर राज कार्य में बाधा पहुंचाई और अन्य कार्यक्रम नहीं करने की चेतावनी भी दी। प्राचार्य ने इन छात्रों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज करने की मांग की। लेकिन टाउन पुलिस ने खानापूर्ति करते हुए 151 में पाबंद कर सभी को छोड़ दिया। पत्रिका से हुई बातचीत में प्राचार्य नरेंद्र भांभू ने बताया कि समारोह की जानकारी सभी को दी गई थी। इसके बावजूद कॉलेज की महिला स्टाफ से अभद्र व्यवहार करते हुए कार व मोटरसाइकिल को क्षतिग्रस्त किया। इस संदर्भ स्टाफ काउंसिल की बैठक बुलाकर छात्रसंघ अध्यक्ष विकास खिलेरी को सात दिन के लिए कैंपस से निलंबित किया गया है और टाउन थाने में विकास व अन्य के खिलाफ राजकार्य में बाधा पहुंचाने व अभद्र व्यवहार करने पर मामला दर्ज कराने के लिए परिवाद दिया गया है।
********************************

Anurag thareja Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned