पत्नी को घायल कर पति घर से भागा, गजसिंहपुर में मिली लाश

दहेज के लिए प्रताडि़त करने का मामला


पत्नी बीकानेर में उपचाराधीन

By: Manoj

Updated: 09 Nov 2019, 12:08 PM IST

हनुमानगढ़़. संगरिया क्षेत्र के गांव सिंहपुरा में गुरुवार को एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी को जान से मारने की नीयत से बुरी तरह मारपीट की और मरणासन्न हालात में छोड़ मोटर साइकिल पर फरार हो गया। गंभीर घायल महिला को परिजन राजकीय चिकित्सालय ले गए। जहां से उसे बीकानेर के पीबीएम में रैफर कर दिया गया। वहां उसका उपचार चल रहा है।

दूसरी तरफ घर से फरार पति का संदिग्ध हालात में गुरुवार को गजसिंहपुर रेलवे स्टेशन समीप रेलवे ट्रेक पर शव बरामद हुआ है। ग्रामीणों के अनुसार हरचरणसिंह (३४) पुत्र जगसीरसिंह ने गुरुवार दोपहर को अपनी पत्नी सुखजिन्द्रकौर उर्फ सुखदीपकौर (३२) से मारपीट की और उसे गंभीरावस्था में घायल कर फरार हो गया। थाना प्रभारी इंद्र कुमार ने बताया कि पुलिस महिला की स्थिति सुधरने का इंतजार कर रही है ताकि बयान कलमबद्ध कर आगामी कार्रवाई हो सके।

ट्रेक पर मिला शव
पूर्व सरपंच जवंदसिंह के अनुसार हरचरणसिंह (३४) पुत्र जगसीरसिंह बुधवार के बाद अपनी बाइक लेकर खेतों की ओर चला गया। उसे तलाशना शुरु किया गया तो उसकी बाइक शाम को गांव सिंहपुरा-शाहपीनी के बीच मिल गई। इसी दौरान व्हाट्सप पर गजसिंहपुर से मिली फोटो देखने पर पता चला कि हरचरणसिंह का शव वहां के रेलवे स्टेशन समीप ट्रेक पर जीआरपी को मिला है।

उसे उन्होंने मोर्चरी में रखवा दिया है। शुक्रवार को मृतक के दो चाचा व अन्य परिजनों के साथ वे वहां गए। शिनाख्त के बाद रेलवे पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया। जिसका देर शाम अंतिम संस्कार हुआ। मृतक के शरीर पर कहीं कोई चोट का निशान व रेलगाड़ी से कटने या फेंट में आने की बात सामने नहीं आई। वह बाइक छोड़कर कब व किसके साथ गजसिंहपुर तक पहुंच गया और उसकी मौत कैसे हुई, संदिग्ध है। प्रकरण की जांच की जा रही है।[पसं.]

दहेज के लिए बहन पर जानलेवा हमला
चक एक आरबी तहसील पदमपुर निवासी राजेन्द्र सिंह पुत्र गुरदीपसिंह ने गुरुवार अपराह्न थाने में मामला दर्ज कराया। आरोप लगाया कि गांव सिंहपुरा निवासी हरचरणसिंह पुत्र जगसीरसिंह के साथ उसकी बहन सुखजिन्द्रकौर उर्फ सुखदीपकौर की शादी हुई थी। बहनोई आए दिन दहेज व नकदी की मांग करता था। जिस पर एक बार ८० हजार रुपए नकद दिए। दुबारा मांग उठने पर पंचायत कर समझाइश की गई। लेकिन वह नहीं माना और नाराज हो गया। इसी रंजिशवश गुस्से में उसने गुरुवार दोपहर बहन सुखदीपकौर को जान से मारने की नीयत से उसके साथ मारपीट की। जिससे उसका जबड़ा, गर्दन व अन्य जगह पर गंभीर चोटें आई।

हरचरणसिंह उसे मरा समझकर गली में बाहर फेंककर भाग गया। बच्चों ने अपने मौसा-मौसी को सारी बात बताई तो वे लोग मौके पर पहुंंचे। जिस पर सभी परिजन उसे उपचार के लिए हनुमानगढ़ ले गए। जहां गंभीर अवस्था में उसे बीकानेर रेफर कर दिया। मृतक के दो बच्चे मनरुप (१२) तथा सहजदीप (०९) हैं। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है। जांच एसआई रचना बिश्रोई को सौंप दी।[पसं.]

Manoj Bureau Incharge
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned