गांवों में संजीवनी साबित हो रही मनरेगा, हनुमानगढ़ जिले में इस समय 78 हजार से अधिक मजदूरों को रोजगार

https://www.patrika.com/hanumangarh-news/

हनुमानगढ़. कोरोना काल के दौरान गांवों में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिहाज से मनरेगा इस वक्त संजीवनी साबित हो रही है। इसे देखते हुए पंचायतीराज विभाग भी मनरेगा की मॉनीटरिंग को लेकर गंभीर नजर आ रहा है। इसके तहत अब हर ग्राम पंचायत में कम से कम चार कार्य अनिवार्य रूप से शुरू करने की योजना बनाकर इसे सख्ताई से लागू किया जा रहा है।

 

By: Purushottam Jha

Published: 06 Jun 2020, 08:31 AM IST

गांवों में संजीवनी साबित हो रही मनरेगा, हनुमानगढ़ जिले में इस समय 78 हजार से अधिक मजदूरों को रोजगार
हनुमानगढ़. कोरोना काल के दौरान गांवों में रोजगार उपलब्ध करवाने के लिहाज से मनरेगा इस वक्त संजीवनी साबित हो रही है। इसे देखते हुए पंचायतीराज विभाग भी मनरेगा की मॉनीटरिंग को लेकर गंभीर नजर आ रहा है। इसके तहत अब हर ग्राम पंचायत में कम से कम चार कार्य अनिवार्य रूप से शुरू करने की योजना बनाकर इसे सख्ताई से लागू किया जा रहा है। ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग में मनरेगा (ईजीएस) आयुक्त पीसी किशन ने वर्ष 2020-21 की वार्षिक कार्य योजना में प्रत्येक राजस्व गांव में खेल मैदान, चारागाह विकास, आदर्श जलाशय विकास वं श्मशान/ कब्रिस्तान के विकास से जुड़े कम से कम एक-एक-एक कार्य सम्मिलित करते हुए सभी ग्राम सभाओं को कार्य करने की सलाह दी है। साथ ही इनमें से ऐसे कार्य जो वर्ष 2019 -20 की वार्षिक कार्य योजना में सम्मिलित थे, लेकिन स्वीकृत नहीं हुए। ऐसे कार्य को नियमानुसार स्वीकृत करवाने तथा ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग में कन्वर्जेंस के तहत स्वीकृत उक्त कार्यों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करवाने का निर्देश दिया है। इन कार्यों की प्रगति सूचना प्रत्येक पखवाड़े भिजवाने के लिए भी मनरेगा आयुक्त ने सभी जिला कलक्टर को अवगत करवाया है। हनुमानगढ़ जिले में इस समय दो लाख 88 हजार जॉबकार्ड पंजीकृत हैं। इनमें से एक लाख 87 हजार जॉबकार्ड सक्रिय हैं। मनरेगा के करीब 2500 कार्य इस समय जिले की 269 ग्राम पंचायतों में चल रहे हैं। जिले की सभी ग्राम पंचायतों में ७८ हजार से अधिक मनरेगा श्रमिकों को रोजगार दिया जा रहा है। जिला परिषद हनुमानगढ़ कार्यालय में मनरेगा शाखा के सहायक अभियंता मदन गोदारा ने बताया कि मनरेगा में अधिकाधिक रोजगार दिलाने का प्रयास जारी है। सभी ग्राम पंचायतों में मनरेगा कार्य स्वीकृत करवाकर अधिकाधिक मजदूरों को रोजगार दिलाने को लेकर निर्देशित किया गया है।

कहां कितनों को रोजगार
हनुमानगढ़ जिले में इस समय ७८१७२ मजदूरों को मनरेगा में रोजगार दिया गया है। पांच जून को जिले की भादरा तहसील में १९३३९,हनुमानगढ़ तसहील में १०२२९, पीलीबंगा में १३१२९, रावतसर में ७७४३, संगरिया में ८३०१ व टिब्बी में ११६६२ श्रमिकों को मनरेगा में रोजगार दिया गया। इनमें कई प्रवासी लोग भी शामिल हैं।

यहां करें रोजगार के लिए आवेदन
यदि कोई प्रवासी व्यक्ति को मनरेगा में रोजगार चाहिए तो उसे संबंधित ग्राम पंचायत कार्यालय में आवेदन करना होगा। इसके बाद 15 दिन के भीतर आवेदन स्वीकार कर उसे रोजगार उपलब्ध करवाया जाएगा। जिले में इस समय मनरेगा में औसत भुगतान १५० रुपए प्रति श्रमिक है। वर्ष में १०० दिन रोजगार की गारंटी देकर २२० रुपए प्रतिदिन के हिसाब से भुगतान किया जाता है।

Purushottam Jha Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned