घायल दलित को अगवा कर ले जाने पर भड़के कार्यकर्ता

दलित युवक पर हमले में पुलिस थाने का घेराव

By: सोनाक्षी जैन

Published: 07 Jun 2018, 04:53 PM IST

पीलीबंगा. कालीबंगा के नजदीक स्थित चक 3 पीबीएन में एक खेत में गोवंश को पीटने का उलाहना देते हुए कई जनों ने मिलकर एक दलित युवक को गाली गलौच करते हुए बुरी तरह पीटा व उसे अगवा कर अन्यत्र ले गए जिसका गुरूवार दोपहर तक कोई पता नहीं चला। इससे गुस्साए दलित शोषण मुक्ति मंच कार्यकर्ताओं, परिजनों दलित समाज के लोगों व भीमसैनिकों ने गुरूवार को पुलिस थाने का घेराव किया व आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए धरना दे दिया।

 

बाद में पुलिस उच्चाधिकारियों के साथ पूर्व विधायक पवन दुग्गल, दलित शोषण मुक्ति मंच जिलाध्यक्ष मनीराम मेघवाल व सामाजिक कार्यकर्ता सुशील बौद्ध आदि धरनार्थियों की हुई वार्ता में रात्रिकालीन डयूटी में कोताही बरतने वाले एक एएसआई को लाईन हाजिर करने तथा आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन देने पर धरनार्थी शांत हुए। पुलिस ने वार्ता में बताया कि एक संदिग्ध आरोपी को हिरासत में लिया गया है तथा पीडि़त नेतराम के मिलने की संभावित जगह का पता लगाया जा रहा है संभवत: नेतराम का शीघ्र पता लगा लिया जावेगा।

 

यह है प्रकरण
्रप्रकरण के अनुसार कालीबंंगा निवासी नेतराम मेघवाल पुत्र मालाराम बुधवार रात्रि चक 3 पीबीएन स्थित खेत की रखवाली कर रहा था तभी कार में सवार चार-पांच जनों ने खेत में प्रवेश किया व स्वयं को कथित गोभक्त बताते हुए नेतराम को खेत में चर रही गोवंश के पीटने का उलाहना दिया व बाद में उस पर हमला बोल दिया जिससे नेतराम के चोटें आई।

 

नेतराम के चचेरे भाई बिशन ने बीचबचाव किया लेकिन अज्ञात हमलावरों ने उससे छुड़वाकर पुन: मारपीट करने के बाद नेतराम को पुलिस थाने ले गए लेकिन पुलिस ने पहले घायल नेतराम का उपचार करवाने की बात कही इस पर हमलावरों को कही इस पर हमलावर उसे अन्यत्र ले गए इसकी सूचना जैसे ही भीम सैनिकों व परिजनों को मिली तो वे पुलिस थाने के सामने एकत्रित हो गए व आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा अगवा कर ले गए नेतराम का पता लगाने की मांग की।

 

पुलिस द्वारा आंदोलनकारियों को समझाने का प्रयास किया गया लेकिन वे नहीं माने तथा आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरना दे दिया व बाद में थाने का घेराव किया। उन्होंने बताया कि नेतराम के गायब होने के 18 घंटे बाद भी पुलिस अभी तक उसका सुराग नही डंढ पाई इससे परिजनों व भीमसैनिकों में पुलिस के प्रति रोष है। नेतराम के चचेरे भाई बिशन पुत्र जगराम मेघवाल ने थाने में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए परिवाद दिया।

 

उच्चाधिकारियों से हुई वार्ता
सूचना पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीराम चौधरी, पुलिस उपाधीक्षक जयसिंह दहिया, गोलूवाला थाना प्रभारी हंसराज लूणा आदि थाने पहुंचे व धरनार्थियों से वार्ता की जिसमें उन्होंने शीघ्र ही आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया। धरनार्थियों में मामले में ढिलाई बरतने वाले पुलिसकर्मियों को निलम्बित करने की मांग की। धरने पर अनेक कार्यकर्ता एकत्रित हुए जिनमें महिला कार्यकर्ता भी शामिल थी।

 

घरों पर लगे मिले ताले
घटना में संलिप्त युवकों के यहां पुलिस ने परिजनों के साथ गुरूवार को दबिश दी लेकिन उनके ठिकानो ंपर पुलिस को ताले लगे मिले।
अलग-अलग टीमें गठित एएसपी हरीराम चौधरी के निर्देश पर थाना प्रभारी ने पुलिसदल की अलग अलग टीमें गठित कर आरोपियों को पकडऩे की जिम्मेवारी सोंपी। टीमों ने संभावित ठिकानों पर दबिश भी दी जिनमें एक आरोपी पुलिस के हत्थे चढ गया जिसे हिरासत में ले लिया गया।

Show More
सोनाक्षी जैन
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned