स्कूल की तालाबंदी, बीडीओ से खफा कार्मिकों का धरना कल से

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

pawan uppal

August, 0208:26 AM

भादरा.

गांव मलखेड़ा में बुधवार को राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय के छात्रों ने विद्यालय के तालाबंदी कर धरना शुरू कर दिया। धरने पर बैठे विद्यार्थियों ने शारीरिक शिक्षक पर कर्तव्यहीनता का आरोप लगाया है। इस संबंध में उपखण्ड अधिकारी को ज्ञापन भी सौंपा गया। ज्ञापन में बताया कि शारीरिक शिक्षक रूलीचन्द समय पर स्कूल नहीं आते हैं। वे बच्चों कोखेलकूद की तैयारी भी नहीं करवाते हैं।


विद्यार्थियों ने मलखेड़ा निवासी शारीरिक शिक्षक बलवीर को ही विद्यालय में रखने की मांग की है। राजस्थान सिविल सेवा अपील अधिकरण जयपुर के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी ने मलखेड़ा में पहले से नियुक्त रूलीचन्द बेनीवाल को पून: नियुक्त किए जाने से वर्तमान में रिलीव किए गए शारीरिक शिक्षक के पक्षकारों ने विद्यार्थियों से तालाबन्दी करवा दी। इसके चलते सामने आया है कि रूलीचंद बेनीवाल का स्थानान्तरण गलत तरीके से परस्पर दिखाया जाने के चलते रूलीचन्द ने अपना पक्ष न्यायालय में रखा।

न्यायालय के आदेश पर ही जिला शिक्षा अधिकारी ने रूलीचन्द को पुन: राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय मलखेड़ा में रखने व शारीरिक शिक्षक बलवीर सिंह को बीड़भादरा के लिए रिलीव करने के आदेश दिए है। प्रधानाचार्य अशोक आर्य ने जिला शिक्षा अधिकारी के आदेश पर बलवीर को रिलीव कर दिया।


पीलीबंगा.

पंचायत समिति की बीडीओ दिनेशचंद्र मिश्रा के व्यवहार से खफा पंचायत प्रसार अधिकारी, मंत्रालयिक कर्मचारी, ग्राम विकास अधिकारी तथा कम्प्यूटर ऑपरेटर शुक्रवार से पंचायत समिति कार्यालय के सामने बेमियादी धरने पर बैठेंगे। पंचायतीराज संयुक्त कार्मिक संघ ने इस आश्य का एक संयुक्त हस्ताक्षरित ज्ञापन बुधवार को विकास अधिकारी को सौंपा। इसमें बताया कि उनकी ओर से पंचायत समिति कार्मिकों के साथ कथित अशोभनीय व्यवहार से कार्मिकों में रोष है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने ग्राम विकास अधिकारियों के स्थानांतरण किए लेकिन उन्होंने अवकाश के दिन उन्हें बिना पदस्थापन प्राप्त किए कार्यमुक्त कर दिया।

उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत स्तरीय कार्मिकों को उनकी बिना सहमति से अनावश्यक रूप से राजनीतिक दबाव के चलते अन्यत्र पंचायतों में स्थानांतरित कर दिया इससे कार्मिकों में रोष है। ज्ञापन देने वालों में पंचायत प्रसार अधिकारी संघ अध्यक्ष सुखचैनसिंह, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ अध्यक्ष राजेश बिश्नोई, कम्प्यूटर ऑपरेटर संघ अध्यक्ष तथा ग्राम विकास अधिकारी संघ अध्यक्ष मगरूरसिंह आदि शामिल थे। उधर विकास अधिकारी दिनेशचंद्र मिश्रा ने आरोप निराधार बताए। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के आदेशानुसार कुछ कार्मिकों को नियमानुसार रिलीव कर दिया।

Show More
pawan uppal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned