होंगे साढ़े पांच बाय साढ़े पांच मीटर के 15 डबल बॉक्स

होंगे साढ़े पांच बाय साढ़े पांच मीटर के 15 डबल बॉक्स
अगले सप्ताह तक रेलवे जेएडी पर लगेगी मुहर
- श्रीगंगानगर फाटक पर अंडरपास की कवायद शुरू
हनुमानगढ़. श्रीगंगानगर फाटर पर अंडरपास निर्माण की कवायद शुरू हो चुकी है। संभाग का सबसे बड़ा अंडरपास होगा।

By: adrish khan

Published: 11 Oct 2021, 09:53 PM IST

होंगे साढ़े पांच बाय साढ़े पांच मीटर के 15 डबल बॉक्स
अगले सप्ताह तक रेलवे जेएडी पर लगेगी मुहर
- श्रीगंगानगर फाटक पर अंडरपास की कवायद शुरू
हनुमानगढ़. श्रीगंगानगर फाटर पर अंडरपास निर्माण की कवायद शुरू हो चुकी है। संभाग का सबसे बड़ा अंडरपास होगा। डबल बॉक्स के अंडरपास में ट्रोले की आवाजाही भी आसानी से होगी। इसके निर्माण के दौरान साढ़े पांच मीटर बाय साढ़े पांच मीटर के डबल बॉक्स के 15 नग तैयार किए जाएंगे। इसकी एक जनरल एरेंजमेंट ड्राइंग तैयार की गई है। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अनुसार अगले सप्ताह तक रेलवे इस ड्राइंग पर मुहर लगा देगा। इसके बाद रेलवे लाइन के नीचे बिछाए जाने वाले बॉक्स की ड्राइंग तैयार रेलवे को भेजी जाएगी। इसके अलावा यूटिलिटी चार्ज की डिमांंड भी रेलवे भेजेगा।बॉक्स की ड्राइंग व यूटिलिटी चार्ज जमा करवाने के बाद निविदा की कार्यवाही होगी। ड्राइंग के अनुसार किसी भी प्रकार की दुर्घटना न हो, इसके लिए अंडरपास के दोनों तरफ सर्किल का निर्माण भी होगा। स्थानीय लोगों को आने व जाने के लिए साढ़े पांच चौड़ाई की सर्विस रोड भी होगी। गंगमूल डेयरी व हाउसिंग बोर्ड जाने के लिए अंडरपास से यूटर्न लेना होगा और हाउसिंग बोर्ड से गंगमूल डेयरी जाने के लिए मौके पर ही सीमेंट के डबल बॉक्स का निर्माण होगा। मुख्य मार्ग होने के कारण ड्रैनेज सिस्टम भी होगा, इसके अलावा बॉक्स के ऊपर बड़ेे शैड भी लगाए जाएंगे ताकि बारिश का पानी अंडरपास में नहीं आ सके।

बिजली व पेयजल की पाइप लाइन शिफ्ट
निविदा के साथ-साथ बिजली व पानी की पाइप लाइनें भी शिफ्ट की जाएंगी। इसके लिए मौके की स्थिति के अनुसार ड्राइंग तैयार कर सार्वजनिक निर्माण विभाग संबंधित विभाग को पत्र भेजेगा। गौरतलब है कि राज्य सरकार ने बजट घोषणा के दौरान जंक्शन स्थित श्रीगंगानगर फाटक पर रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण कराने की घोषणा की थी। आरओबी निर्माण पर 45 करोड़ की लागत प्रस्तावित थी। इसमें 20 करोड़ रुपए रेलवे की ओर से खर्च करने का प्रस्ताव था तो 25 करोड़ रुपए राज्य सरकार की ओर से खर्च किए जाने थे। स्थानीय जनप्रतिनिधियों की मांग पर राज्य सरकार ने रेलवे अंडरपास निर्माण का निर्णय लेते हुए 25 करोड़ का बजट पारित किया था।


एनओसी हो चुकी है जारी
जिला कलक्टर की ओर से इस रेलवे लाइन पर अंडरपास व ओवरब्रिज का निर्माण होने पर फाटक को बंद करने के लिए एनओसी जारी कर चुके हैं। दरअसल आरओबी का निर्माण करने पर धानमंडी के गेट बंद होने की आशंका थी। इसके अलावा दोनों तरफ के दुकानदारों को भी आर्थिक नुकसान होता। इन तमाम कारणों को देखते हुए एनओसी में अंडरपास का भी जिक्र किया गया है। इससे पूर्व एनओसी में केवल ओवरब्रिज का जिक्र था।

अगले सप्ताह तक आएगी जेएडी
श्रीगंगानगर रेलवे लाइन पर अंडरपास निर्माण के लिए जेएडी तैयार कर रेलवे को भेजी जा चुकी है। अगले सप्ताह तक इसकी अप्रूवल मिलेगी। अंडरपास का निर्माण होने पर लोगों को राहत मिलेगी। इसमें सभी तरह के वाहनों की आवाजाही रहेगी।
अनिल अग्रवाल, अधिशासी अभियंता, पीडब्ल्यूडी

adrish khan Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned