जनआशीर्वाद यात्रा के विरोध में भी उभरी कांग्रेस की गुटबाजी

जनआशीर्वाद यात्रा के विरोध में भी उभरी कांग्रेस की गुटबाजी

Sanjeev Dubey | Publish: Sep, 08 2018 11:27:51 AM (IST) Hoshangabad, Madhya Pradesh, India

- किसान कांग्रेस की धिक्कार यात्रा में गैरमौजूद रहे विधायक ने अलग से प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी

हरदा. कांगे्रस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा का विरोध भी गुटों में किया। विधायक के विरोधी गिने जाने वाले किसान कांग्रेस नेताओं ने गुरुवार को मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने के लिए झिरी से हरदा तक की धिक्कार यात्रा निकाली। हालांकि कांग्रेसी करीब 17 किमी पैदल चलकर जब बालागांव पहुंचे तो पहले से मौजूद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस यात्रा में विधायक डॉ. आरके दोगने मौजूद नहीं थे। किसान कांग्रेस प्रदेश सचिव मोहन विश्नोई व रविशंकर शर्मा के मुताबिक एक दिन पहले विधायक व उनसे जुड़े पार्टी पदाधिकारियों को आंदोलन की सूचना दी गई थी। दूसरी ओर गुरुवार रात 8 बजे कांग्रेस के दूसरे गुट द्वारा मीडिया को सूचना दी गई कि विधायक डॉ. आरके दोगने अपने समर्थकों के साथ जनआशीर्वाद यात्रा में मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने जा रहे हैं। विधायक के ऐसा करने से पहले ही पुलिस ने उन्हें समर्थकों सहित गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। मुख्यमंत्री के विरोध दो अलग-अलग आंदोलन द्वारा करने को कांग्रेसी बढ़ती गुटबाजी से जोड़कर देखा जा रहा है। राजनीतिक गलियारों में शुक्रवार दिनभर इस बात की चर्चा रही कि चुनाव के ऐन पहले कांग्रेस की यह स्थिति कहीं भाजपा को खोई सीट वापस न दिला दे।

पेशी पर भोपाल गया था, इसलिए शामिल नहीं हुआ : विधायक
इस संबंध में विधायक डॉ. दोगने से चर्चा की गई तो उन्होंने कहा कि गुरुवार को वे पेशी पर भोपाल गए थे। उन्हें उम्मीद थी कि शाम को धिक्कार यात्रा में शामिल हो जाएंगे, लेकिन इसके पहले ही पुलिस ने कांग्रेसियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जब विधायक से यह पूछा गया कि उनके समर्थक धिक्कार यात्रा में शामिल क्यों नहीं हुए, तो उन्होंने कहा कि वे कुकरावद से यात्रा में शामिल होते। यात्रा के यहां पहुंचने से पहले ही पुलिस ने रोक दिया। ज्ञात हो कि प्रदेश सचिव ओम पटेल व कार्यकारी जिलाध्यक्ष कैलाश पटेल सहित विधायक समर्थक कई पदाधिकारी धिक्कार यात्रा में शामिल नहीं थे। बाद में इनमें से कई पदाधिकारियों ने विधायक के साथ गिरफ्तारी दी।

आंदोलन के कारण पेशी पर नहीं गए कई कांग्रेसी
खबर है कि विधायक धिक्कार यात्रा के दौरान जिस मामले की पेशी पर भोपाल जाने की बात कह रहे हंै उसमें जिला कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण पंवार, किसान कांग्रेस प्रदेश सचिव मोहन विश्नोई, विजय सिंह सूरमा सहित अन्य भी आरोपी हैं। भोपाल में 6 , 7 व 8 सितंबर को इसकी सुनवाई होना थी। विधायक को छोड़कर अन्य कई आरोपी पेशी पर जाने के बजाए आंदोलन में शामिल रहे।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned