तीन साल पहले मिल चुकी है जमीन, अब तक नहीं बना 80 लाख का हाट बाजार

-नगर परिषद की लापरवाही से लोग हो रहे परेशान

खिरकिया। शहर में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजार के लिए ढाई साल पहले शासन ने जमीन नगर परिषद को दे दी है। हाट बाजार में सुविधाओं का विकास करने के लिए 80 लाख रुपए की राशि भी स्वीकृत कर दी है मगर उसके बाद भी अब तक शहर में हाट बाजार नहीं बन पाया है। अभी जो हाट बाजार लग रहा है वह लोगों के लिए परेशानी लेकर आता है। बाजार में न तो व्यवस्थित दुकानें लगाने की व्यवस्था है और ना ही ग्राहकों के लिए अन्य मूलभूत सुविधाएं हैं। नगर परिषद भी हाट बाजार के निर्माण को लेकर गंभीर नही है।
-----------------
३ साल पहले मिल चुकी है जमीन
राजस्व विभाग ने नगर परिषद को करीब 3 वर्ष पहले भूमि हस्तांतरित की जा चुकी है। नगर परिषद ने पुलिस चौकी के सामने खाली भूमि हाट बाजार के लिए राजस्व विभाग से मांगी थी। राजस्व विभाग ने 4.047 हेक्टेयर भूमि नगर परिषद को दे दी है। इस भूमि पर प्रति मंगलवार हाट बाजार लगता है। यह भूमि बाजार के लिए सुरक्षित की गई है। जिसमें से 0.82 एकड़ भूमि हाट बाजार के लिए नगर परिषद को निशुल्क आवंटित की जा चुकी है।
---------------
मौजूदा बाजार में 200 दुकानें
जमीन होने के बावजूद हाट बाजार नहीं बन पाने से अभी जो हाट बाजार लगता है उसमें करीब २०० दुकानें लगती हैं। इस बाजार में खरीदारी करना ग्राहकों के लिए परेशानी से भरा है। इस हाट बाजार में बिजली, पानी, प्रसाधन केंद्र सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं दुकानदार एवं ग्राहक दोनो ंको ही वंचित रहना पड़ रहा है। यह बाजार भी नगर परिषद के अधीन होने के बावजूद अव्यवस्थाओं का शिकार है। लगभग 200 से अधिक दुकाने लगती है। जिसमे सैक?ो ग्राहक खरीददारी के लिऐ पहुंचते है।
---------------
८० लाख से होना है निर्माण
साप्ताहिक हाट बाजार के लिए 80 लाख रुपए की राशि स्वीकृत है। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व बाजार निर्माण के लिए डीपीआर बनाकर शासन को भेजी गई थी जिसे स्वीकृति मिल चुकी है। इस राशि से हाट बाजार में चबूतरे, टीन शेड, प्रकाश व्यवस्था, जल, सड़क सहित अन्य निर्माण होना है। नगर परिषद द्वारा टेंडर होने की बात कही जा रही है लेकिन निर्माण के लिए फिलहाल कोई कवायद देखने को नही मिल रही है।
---------------
राशि लेकर भी नहीं देते सुविधा
यह हाट बाजार कई सालों से पिछड़ा हुआ है। बाजार में दुकानदारों को परेशान होना पड़ता है। अंधेरा होते ही बाजार सिमटने लगता है। नगर पंचायत द्वारा दुकानदारों से दुकानें लगाने के बदले में राशि भी वसूली जाती है लेकिन बाजार का विकास नहीं कराया जाता है। इस बाजार में खिरकिया तहसील के ग्रामों के अलावा सिराली और खंडवा जिले की किल्लौद व हरसूद तहसील के ग्रामों के लोग भी खरीदी करने आते हैं।
----------------
इनका कहना है
हाट बाजार के लिए 80 लाख रुपए स्वीकृत हुए हैं। निर्माण के लिए टेंडर हो चुके हंै। निर्माण कार्य प्रारंभ होने की प्रक्रिया में है। जल्द ही कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा। एआर सांवरे, सीएमओ खिरकिया
-

Rahul Saran Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned