योगी सरकार में फर्जी रिपोर्टिंग कर वर्षों से सूखी पड़ी नहरों में पानी पहुंचा रहे अफसर

योगी सरकार में फर्जी रिपोर्टिंग कर वर्षों से सूखी पड़ी नहरों में पानी पहुंचा रहे अफसर

Akansha Singh | Publish: Feb, 15 2018 08:28:25 AM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

जिलाधिकारी पुलकित खरे ने अधिशासी अभियंता शारदा नहर एसएन शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी की।

हरदोई. जिलाधिकारी पुलकित खरे ने अधिशासी अभियंता शारदा नहर एसएन शर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा है कि विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में राष्ट्रीय जल प्रबन्ध योजना खण्ड शारदा नहर के अंतर्गत आने वाले 76 माइनरो रजबहो की तथा हरदोई खण्ड शारदा नहर के तहत आने वाले 57 माइनरों एवं रजबहों की सूची दी गयी थी जिसमें नहर के टेल भाग तक पानी पहुंचाने की पुष्टि की गयी थी । जिलाधिकारी ने बताया कि राष्ट्रीय जल प्रबन्ध योजना नहर खण्ड की सूची क्रमांक 15 पर अंकित समसपुर ग्राम प्रधान से मोबाइल पर वार्ता में बताया गयाकि समसपुर माइनर में विगत 6 वर्षो से पानी नही आ रहा है। इसी प्रकार आजमपुर में 1 वर्ष से,भीठा में 2 वर्ष से, ग्राम भदेना में 5 वर्ष से, ग्राम कोरोकला में 3 वर्ष से , ग्राम हुलासपुर में 5 वर्ष से, ग्राम बरसरा रजबहा की ग्राम नरापुर के आगे 10 वर्ष से पानी नही आ रहा है तथा नहर जोत ली गयी है। ग्राम बेसार में 25 वर्ष से पानी न आने की बात ककीरली के प्रधान द्वारा बताई गई कि इन माइनरों में 10-10 वर्ष से पानी नही आया है।


इसी प्रकार अन्य ग्राम ककेड़ी में 15 वर्ष से ,सहोरिया बुजुर्ग टेल पर माइनर बंद है कर दिया गया है। ग्राम टिकारी में 04 वर्ष से ,ग्राम राभा में कम पानी आने और कम खोदाई के कारण फसल डूब जाने, ग्राम शिवरी में 1 वर्ष से, ग्राम अलीनगर में 15 वर्ष से पानी नही आने तथा माइनर पाट दिये जाने की बात प्रधान द्वारा बताई गयी है। ग्राम जिगनिया में 10 वर्ष से, रसूलपुर मे स्लोप टूट जाने, ग्राम शुल्कूपुर में 10 वर्ष से तथा ग्राम सुल्तानपुर प्रधान द्वारा 08 वर्ष से माइनर में पानी नही आने की पुष्टि की गयी है।


जिलाधिकारी ने कहा है कि इससे स्पष्ट होता है कि आप द्वारा अपने दायित्वों एवं कर्तब्यों से सर्वथा विमुख है साथ ही उच्चाधिकारियों के समक्ष भ्रामक तथ्य प्रस्तुत करने की पृवत्ति विद्यमान है और इतनी संख्या में माइनर एवं रजबहों में टेल तक पानी न पहुंचने के कारण काफी बड़े भू-भाग की फसले प्रभावित होगीं जिसका प्रतिकूल प्रभाव शासन की छवि पर पड़ना सहज एवं स्वाभाविक है । इसलिए उक्त के सम्बन्ध में 3 दिन मेें कारण स्पष्ट करें कि आपके द्वारा भ्रामक आख्या क्यों प्रस्तुत की गयी ।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned