पत्रकारिता में सत्यम् शिवम् सुन्दरम् की सार्थकता पर जोर, देखें वीडियो

पत्रकारिता में सत्यम् शिवम् सुन्दरम् की सार्थकता पर जोर, देखें वीडियो
journalist

suchita mishra | Updated: 31 May 2019, 11:32:46 AM (IST) Hathras, Hathras, Uttar Pradesh, India

‘‘आन्तरिक सशक्तिकरण द्वारा मूल्यनिष्ठ पत्रकारिता’’ विषय पर पत्रकार सम्मेलन में मंगलायतन विवविद्यालय के कुलपति ने कहा- खबर कल्याणकारी हो।

अलीगढ़। पत्रकारिता सत्यम् शिवम् सुन्दरम् की अवधारणा है। यही प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की है। उसे साथ लेकर सबसे पहले दिल की सच-सच सुनिये। सच्ची खबर के साथ-साथ खबर कल्याणकारी भी होगी तो सुन्दर भी होगी। उक्त विचार हिन्दी पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष में ब्रह्माकुमारीज आनन्दपुरी कालोनी की राजयोग शिक्षिका बी.के. शान्ता बहन के सानिध्य एवं इगलास केन्द्र प्रभारी बी0के0 हेमलता के निर्देशन में आयोजित पत्रकारिता सम्मेलन में मंगलायतन विवविद्यालय के कुलपति प्रो0 डॉ0 के.वी.एस.एम. कृष्णा ने उपस्थित पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये।

इन्होंने किया शुभारंभ
इससे पूर्व कार्यक्रम का शुभारम अतिथियों का पुष्प देकर एवं बालिका नैन्सी द्वारा भाव नृत्य झूम झूम हर कली प्रस्तुत कर किया। कुलपति प्रो. डॉ0 के.वी.एस.एम. कृष्णा, रजिस्ट्रार एवं डीन पत्रकारिता एवं जनसंचार प्रो0 शिवाजी सरकार, बी0के0 शान्ता बहिन, पत्रकार शिवओम शर्मा, वरिठ पत्रकार सतीश कुलश्रेठ आदि ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

सच्चाई कभी बिकती नहीं
दिल्ली से पधारे स्वतंत्र पत्रकार एवं कई पत्रिकाओं के संपादक बी.के. अनुज ने पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सच्चाई कभी बिकती नहीं, बल्कि फैलती है। छोटे षहर का अखबार हूँ, सच लिखता हूँ, इसलिए कम बिकता हूँ। सत्यता को जितना साथ रखेंगे, बाधायें आयेंगी। जीवन मूल्य साथ बनाकर रखें, खबरों की पीछे जितना भागते हैं उसका एक प्रतिशत यदि अपने लिए भी दिन में निकाल लेंगे तो सब कुछ सहज हो जायेगा। तीन मिनट का मौन सशक्तिकरण का अभ्यास भी कराया।

journalist

सच्ची खबर के लिए भागना होता है

वरिठ पत्रकार सतीश कुलश्रेठ ने भी सत्यता पर जोर देने के साथ पत्रकारों की मेहनत की तारीफ की। उन्होंने कहा कि चाहे तापमान बढ़ रहा हो किसी पत्रकार के रोजे भी चल रहे हों, लेकिन खबर के लिए वह इसलिए भागता है कि कार्यक्रम क्या हुआ यह तो हर कोई बता देगा, लेकिन सच्ची खबर खुद ही ढूंढनी पड़ती है।

स्वयं का परिचय हो
कार्यक्रम आयोजिका एवं हाथरस में आनन्दपुरी कालोनी की राजयोग शिक्षिका बी.के.शान्ता बहन ने बताया कि जिस प्रकार का विषय है, उसके अनुरूप आन्तरिक सशक्तिकरण के लिए सबसे पहले स्वयं का परिचय और आत्मा के पिता का परिचय भी होना चाहिए।
जीवन मूल्यों को बनाये रखने में आन्तरिक खुशी

मंगलायतन विवविद्यालय के रजिस्ट्रार एवं डीन पत्रकारिता एवं जनसंचार प्रो0 शिवाजी सरकार ने कहा कि आन्तरिक सशक्तिकरण के लिए धन कमाने के साथ साथ जीवन मूल्यों को बनाये रखने में आन्तरिक खुशी भी मिलेगी।

समुद्र की सीप में मोती ढूंढते हैं पत्रकार

कार्यक्रम संयोजक पक्षकार योगे कौशिक ने कहा कि पत्रकार समुद्र की सीप में से मोती को ढूंढने के लिए दिनरात मेहनत करते हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे इगलास पत्रकार संघ के अध्यक्ष शिवओम शर्मा ने अपने सम्बोधन में कहा कि जिस प्रकार का आयोजन पत्रकारों के लिए ब्रह्माकुमारीज़ संगठन द्वारा किया गया है, वह बधाई के पात्र हैं। आज पत्रकारों को विद्वानों से बहुत कुछ सीखने को मिला। बी0के0 शान्ता बहन ने अतिथियों को प्रतीक चिन्ह भेंट किये।

ये रहे उपस्थित
इस अवसर पर कृष्णा अग्रवाल, सोनू गुप्ता, एम0एस0 सैफी, मनीषा उपाध्याय, चन्द्रिल कुलश्रेठ, विष्णु शर्मा, शिवा चौधरी, देवेन्द्र सिंह, पंकज शर्मा, सुशील गुप्ता, नितिन अग्रवाल, सुग्रीव सिंह, लक्ष्मी लाल, विनोद कुमार, कृष्ण गोपाल सिंह, राजकुमार कोरी, कुलदीप शर्मा, विमल उपाध्याय, राहुल शर्मा, सोनवीर चौधरी, राजदीप तौमर, देवेन्द्र पाल सिंह, मुकेश भारद्वाज, राजू, मनोज कोरी, ओम प्रकाश, अरविन्द कुमार, मोहम्मद नजीर, मोहम्मद नाजिर अहमद, मनोहर लाल आदि मौजूद रहे।

 

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned