VACCINE ALERT : कोरोना वैक्सीन लगवाने से पहले और बाद में इन बातों का रखें ध्यान

-कोविशील्ड और कोवैक्सीन टीके लगाए जा रहे हैं देश में
- दोनों ही वैक्सीन से अब तक कोइ बड़ा साइड इफेक्ट सामने नहीं आया है।

By: pushpesh

Updated: 09 Mar 2021, 06:42 PM IST

भारत में अब तक दो करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका है। अच्छी बात ये है कि दोनों ही वैक्सीन से अब तक कोइ बड़ा साइड इफेक्ट सामने नहीं आया है। टीकाकरण के पहले चरण में जरूर कुछ लोग आशंकित थे, लेकिन दूसरे चरण में जैसे ही सीनियर सिटीजन की बारी आई, खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू सहित कई हस्तियों ने वैक्सीन लगवाई। इसके बाद टीका लगवाने वालों की संख्या एकाएक बढ़ गई। एक्सपर्ट के मुताबिक भारत में इस्तेमाल किए जा रही दोनों ही वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन सुरक्षित और असरदार हैं। एसएमएस मेडिकल कॉलेज में न्यूरो सर्जन डॉ. अरविंद शर्मा के मुताबिक टीका लगवाने से पहले और बाद में कुछ बातों का ध्यान रखा जाना चाहिए।

टीका लगने से पहले ये ध्यान रखें (Keep this in mind before getting vaccinated)
-ध्यान रहे खाली पेट वैक्सीन नहीं लेनी है। यानी अच्छी तरह से भोजन करने के बाद ही टीका लगवाएं। संभव हो तो अपनी रुटीन की दवा भी लें और कुछ देर आराम कर लें।
-कोरोना वैक्सीन लगवाने वालों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना चाहिए। दो गज की दूरी संक्रमण रोकने का सबसे अच्छा उपाय है। वैज्ञानिकों ने इस बात की पुष्टि की है कि फिजिकल डिस्टेंसिंग के कारण ही महामारी के शुरुआती दिनों में संक्रमण रोकने में मदद मिली।
-यदि कोई व्यक्ति खून को पतला करने की कोई दवा ले रहा है या किसी अन्य बीमारी के लिए दवाइयां ले रहा है तो वैक्सीन लेने से पहले यह जानकारी स्वास्थ्यकर्मी को जरूर दें।
-जिनकों दवा या अन्य वजह से एलर्जी है, उन्हें कोरोना वैक्सीन की डोज नहीं लेनी चाहिए। गर्भवती महिलाओं को भी वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए, क्योंकि गर्भवती महिलाओं पर इसका ट्रायल नहीं हुआ है।
-कोरोना वैक्सीन लगने के बाद एलर्जी की शिकायत होती है तो अगली डोज लेने से पहले डॉक्टर से अवश्य परामर्श कर लेना चाहिए।
-ध्यान रहे, वैक्सीन की दूसरी डोज भी उसी कंपनी की लें, जिसकी पहले ली है।


टीकाकरण के बाद ये सावधानी बरतें (Take these precautions after vaccination)
-टीकाकरण के तत्काल बाद एलर्जी या किसी अन्य प्रतिक्रिया से बचाव के लिए कुछ देर वैक्सीन केंद्र पर नजर रखी जाती है। जब डॉक्टर पूरी तरह से संतुष्ट हो जाते हैं, तभी वैक्सीन लेने वाले को जाने की इजाजत दी जाती है।
-इंजेक्शन साइट पर दर्द और बुखार जैसे दुष्प्रभाव आम हैं, इससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। इसके अलावा सर्दी लगने और थकान जैसे लक्षण भी आ सकते हैं, लेकिन ये एक या दो दिन में दूर हो जाते हैं।
-अच्छी इम्युनिटी यानी प्रतिरोधक क्षमता वाले इंसान पर टीके का असर भी तेजी से होता है।
-वैक्सीन से पहले और बाद में शराब का सेवन वर्जित है। टीका लगवाने के बाद कम से कम 45 दिनों तक अल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए।
-वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद वैक्सीन लेने वाला व्यक्ति कोरोना रोगियों की देखभाल कर सकता हैं। इसी वजह से पहले चरण में हेल्थ कार्यकर्ताओं को वैक्सीन लगाई गई है।
--अभी ये धारणा है कि वैक्सीन की दोनों खुराक मिलने के बाद किसी तरह के सुरक्षा बंदोबस्त रखने की आवश्यकता नहीं है, लेकिन यह गलत है। टीकाकरण के बाद भी लापरवाही कतई नहीं बरतें, दो गज की दूरी, मास्क लगाना और साबुन से हाथ धोना जैसे उपाय नहीं छोड़ें।

pushpesh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned