बिना लक्षणों वाले कोविड मरीजों में तेजी से कम हो रही है एंटीबॉडीज

कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों में तेजी से एंटीबॉडीज कम हो रही है। इससे उनमें दोबारा संक्रमण की आशंका बढ़ रही है।

By: Hemant Pandey

Published: 04 Nov 2020, 03:29 PM IST

कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों में तेजी से एंटीबॉडीज कम हो रही है। इससे उनमें दोबारा संक्रमण की आशंका बढ़ रही है। इम्पीरियल कॉलेज, लंदन की ओर से 3.65 लाख से अधिक लोगों की जांच में इसकी पुष्टि हुई है। आशंका है कि संक्रमित होने के छह से 12 माह के बाद दोबारा से कोरोना का संक्रमण हो सकता है। अध्ययन में देखा गया है कि युवाओं की तुलना में बुजुर्गों में तेजी से एंटीबॉडीज कम हो रही है। शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि 75 साल या उससे ज्यादा उम्र के मरीजों की तुलना में 18-24 आयुवर्ग के मरीजों की 'लॉस ऑफ एंटीबॉडीज' धीमी है। एक्सपर्ट की सलाह है कोरोना से बचाव के लिए सावधानी बरतें। इस अध्ययन में 20 जून से 28 सितंबर के बीच कोरोना वायरस एंटीबॉडीज के लिए घर पर तीन राउंड फिंगर प्रिक टेस्ट करवा चुके 3.65 लाख रैंडमली सेलेक्टेड वयस्कों को शामिल किया गया था। शोधकर्ताओं का कहना है कि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि जिन्हें एक बार कोरोना हो गया है तो उनको दोबारा नहीं होगा।

Corona virus
Hemant Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned