Coronavirus से जुड़े ये जवाब करेंगे सारे सवाल हल, नहीं रहेगा अब कोई डाउट


Highlights
- Coronavirus से पीड़ितों की संख्या 700 तक पहुंच गई
-ख़तरनाक वायरस की वजह से 16 भारतीयों की मौत हो चुकी है
- Coronavirus से संक्रमण और बचाव के तरीकों को लेकर लोगों के मन में अभी भी ढेरों सवाल हैं

By: Ruchi Sharma

Published: 27 Mar 2020, 03:20 PM IST

नई दिल्ली. कोरोना वायरस से जुड़े दुनिया भर में लाखों मामले तेजी से दर्ज किए जा रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या 700 तक पहुंच गई है। अब तक इस ख़तरनाक वायरस की वजह से 16 भारतीयों की मौत हो चुकी है। इन दिनों अपने देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने तहलका मचा रखा है। इस वायरस को लेकर हर किसी के मन में डर की स्थिति बनी हुई है। ऐसी स्थिति में जरूरी है कि आपको इसके बारे में सबकुछ पता हो। इस वायरस का स्त्रोत क्या है, ये कैसे फैलता है, इससे बचाव कैसे किया जा सकता है, भारत सरकार इससे बचाव के लिए क्या कदम उठा रही है? इन सभी सवालों के जवाब आपको पता होने चाहिए। दूसरी ओर कोरोना वायरस से संक्रमण और बचाव के तरीकों को लेकर लोगों के मन में अभी भी ढेरों सवाल हैं। आइए जानते है इसके उत्तर..


क्या जिंजर हनी लेमन टी, कोविद -19 से लड़ने के लिए प्रतिरक्षा बढ़ाने में मदद करती है?

यदि आप भी अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं तो अपने दैनिक जीवन लेमन टी का प्रयोग करना चाहिए। जुकाम और इससे होने वाली अन्य समस्याओं का प्रभावी इलाज है नींबू की चाय। लेमन टी सर्दी और इस दौरान आने वाली बुखार के लक्षणों को कम करने में मददगार होती है। सर्दी और जुकाम होने पर नींबू की चाय में अदरक को मिलाकर पी सकते हैं। गले में खराश होने और खांसी में भी नींबू की चाय हमें राहत पहुंचाती है। इस दौरान 3 से 4 दिनों तक रोजाना 3 कप नींबू की चाय का सेवन किया जा सकता है। लेमन टी ठंड के दौरान शरीर को गर्म रखती है। इसलिए बेहतर है कि हमें नींबू की चाय पीते रहना चाहिए।

क्या खांसते व छींकते समय हर वक्त मुंह ढंकना जरूरी है

अगर आप को कोरोना नहीं है तब भी खांसते या छींकते समय अपना मुंह जरूर ढंके। इसके लिए आप टिश्यू या रुमाल का उपयोग कर सकते हैं। बेहतर होगा टिश्यू का उपयोग करे ताकि उसे बदल सकें। टिश्यू को ऐसी जगह नष्ट करें जहां से कोई और संक्रमित न हो। इसके साथ ही आप को यह भी ध्यान रखना है कि आप अपने हाथों को साबुन या 60 फीसदी एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से साफ करें। बार-बार नाक या मुंह पर हाथ न ले जाएं।

क्या घर में किसी के साथ भी निजी सामान शेयर नहीं करना चाहिए

अगर आपको कोरोना के संक्रमण की आशंका है या आप उससे पीड़ित हैं तो अपने बर्तन, ग्लास, कप, खाने के सामान, कपड़े, तौलिये, बिस्तर आदि घर में मौजूद दूसरे लोगों के साथ शेयर न करें। इससे उन्हें भी संक्रमण का खतरा हो सकता है। जब आप इन चीजों का उपयोग करें तब इन्हें अच्छे से साफ करें।


लकड़ी-कांच पर कितने दिनों तक जिंदा रहता है Coronavirus?

कोरोना वायरस 20 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर 2 दिनों तक जिंदा रह सकता है। लकड़ी और कांच पर 4 दिनों तक मेटल यानी धातु की वस्तुओं पर 5 दिनों तक जबकि प्लास्टिक और चीनी-मिट्टी पर भी 5 दिनों तक जिंदा रह सकता है। अगर कमरे का तापमान ठंडा है तो कोरोना वायरस किसी प्लास्टिक की सतह पर 9 दिनों तक रह सकता है। जबकि एल्यूमीनियम पर 2 घंटे, लेटेक्स पर करीब 8 घंटे तक इसका असर रहता है।

क्या पैसों, बालों और कपड़ों में से फैल सकता है Coronavirus?

शोधकर्ता के मुताबिक, पैसों, बालों और कपड़ों जैसी हवा पास होने वाली चीजों पर वायरस लंबे समय कर जीवित नहीं रह सकता क्योंकि ऐसी चीजों में रिक्त स्थान या छेद सूक्ष्म जीव को फंसा सकते हैं और इसे प्रसारित होने से रोक सकते हैं। जबकि दूसरे शोध के मुताबिक, कोरोना एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है।

Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned