खाली पेट पीए तांबे के बर्तन में रखा पानी, होंगे जबरदस्त फायदे

  • तांबे के बर्तन में रखा पानी पूरी तरह से शुद्ध माना जाता है
  • 8 घंटे तक तांबे के बर्तन में रखा हुआ होना चाहिए

By: Pratibha Tripathi

Published: 13 Mar 2021, 08:26 PM IST

नई दिल्ली। पानी पीना सेहत के लिए काफी अच्छा माना गया है लेकिन इस सही तरीके से पीया जाए तो यह हमारे शरीर को कई तरह के फायदे पहुंचाता है। जैसा की आयुर्वेद में कहा गया है कि तांबे के बर्तन में रखा पानी रोज पीया जाए तो शरीर के कई दोषों जल्द दूर हो जाते है। साथ ही ताबें के पात्र में रखे पानी से शरीर के जहरीले तत्व बाहर निकाले जा सकते हैं। आपके बता दें कि तांबे के बर्तन में संग्रहित पानी को ताम्रजल के नाम से जाना जाता है। तांबे के बर्तन में रखा पानी पूरी तरह से शुद्ध माना जाता है। यह सभी प्रकार के बैक्टीरिया को खत्म कर देता है साथ ही साथ जान लें कि इस पानी को कम से कम कम 8 घंटे तक तांबे के बर्तन में रखा हुआ होना चाहिए।

यह भी पढ़ें:- अब ब्लड ग्रुप से जानेंगे हार्ट अटैक का खतरा किन लोगों को है सबसे ज्यादा

आइए जानते हैं तांबे में रखे पानी पीनें से होते है ये फायदे

-डायरिया, पीलिया, डिसेंट्री जैसी बीमारी से लड़ने में बेहद मददगार होता है।

-ताबें के पात्र में पानी पीने से पेट दर्द, गैस, एसिडिटी और कब्जियत की समस्या से जल्दी छुटकारा मिल जाता है साथ ही यह पाचन क्रिया को मजबूती प्रदान करने में मदद करता है।

-तांबे में रखे पानी को पीने से कैंसर की समस्या दूर होती है। क्योंकि इसमें कैंसर विरोधी तत्व मौजूद होते है।

-शरीर के घाव आन्तरिक हो या बाहरी हो वह जल्दी ही भरने में मदद करता है।

-तांबा प्यूरीफायर का काम करता है। ये पानी की अशुद्धियों को दूर कर देता है।

- तांबा शरीर के दोषो के दूर करता है इससे त्वचा संबंधी समस्याएं भी ठीक होती हैं।

-कोलेस्ट्रॉल को घटाने में मददगार है।

-शरीर की आंतरिक सफाई के लिए तांबे का पानी कारगर होता है। इसके अलावा यह लिवर और किडनी को स्वस्थ रखता है

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned