scriptHoli का रंग, न हो ज़हरीला! केमिकल रंगों से बचें, स्किन और आंखों को हो सकता है नुकसान | Patrika News
स्वास्थ्य

Holi का रंग, न हो ज़हरीला! केमिकल रंगों से बचें, स्किन और आंखों को हो सकता है नुकसान

6 Photos
2 months ago
1/6

 

Side effects of Chemical Colors

: होली का त्योहार हमें रंगों की बारिश और मस्ती के लिए उत्सुक बनाता है। लेकिन इस उत्सव में रंग लगाने के पहले हमें सावधानी बरतनी चाहिए। आजकल बाजार में मिलने वाले केमिकल युक्त रंग आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। यहां दी गई जानकारी आपको होली के रंगों से होने वाली संभावित समस्याओं के बारे में जागरूक करेगी।

 

2/6

 

होली पर केमिकल वाले रंगों से हो सकता है नुकसान Chemical colors can cause harm on Holi


सिंथेटिक रंगों से सावधान Side effects of Chemical Colors :
रंगों के खेल में अपने व्यक्तित्व को समाहित करते हुए, हम अक्सर त्वचा की देखभाल पर ध्यान नहीं देते। लेकिन मार्केट में मिलने वाले सिंथेटिक रंग (Synthetic colors) त्वचा को जलन, खुजली, रेडनेस, और अन्य समस्याओं का सामना करवा सकते हैं। इसलिए, होली के रंगों का उपयोग करते समय सावधानी बरतना बहुत आवश्यक है। इस जानकारी के माध्यम से हम सभी को त्वचा संबंधित समस्याओं से बचाव के लिए सतर्क रहने की आवश्यकता है।

 

3/6

रंगों से सांस की समस्याएं हो सकती हैं
Side effects of Chemical Colors :
होली के उत्सव में रंगों के खेल से न केवल हमारी आंखों और त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है, बल्कि सांस लेने के लिए भी खतरा पैदा हो सकता है। केमिकल युक्त रंगों (Synthetic colors) का उपयोग करने से सांस लेने में तकलीफ, खांसी की समस्या, और फेफड़ों को नुकसान हो सकता है। इसलिए, सांस के मरीजों को होली के उत्सव में सावधान रहने की आवश्यकता है।

4/6

 

आंखों के लिए हानिकारक हैं रंग- Colors are harmful for eyes


Side effects of Chemical Colors : होली के त्योहार में रंगों का उत्सव मनाने के दौरान हमें सुनहरा और रंगीन दृश्यों का आनंद लेने का मौका मिलता है। लेकिन, कुछ रंग ऐसे भी होते हैं जिनमें सिलिका और सीसा जैसी तत्वों का मिश्रण होता है, जो हमारी आंखों के लिए हानिकारक होता है। इससे आंखों को नुकसान हो सकता है और ड्राई आई जैसी समस्याएं भी हो सकती हैं। इसलिए, हमें सावधानी बरतने की आवश्यकता है जब हम रंगों का इस्तेमाल करते हैं।

 

5/6

अस्थमा के रोगियों के लिए होली का उत्सव अत्यधिक खतरनाक

Holi celebration is extremely dangerous for asthma patients


अस्थमा के रोगियों के लिए होली का उत्सव अत्यधिक खतरनाक हो सकता है। इस मौके पर रंग और गुलाल के इस्तेमाल से अस्थमा का अटैक का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए, सावधानी बरतते हुए हर्बल रंगों का उपयोग करना एवं उनकी सीमित मात्रा में ही इस्तेमाल करना अत्यंत आवश्यक है। इससे अस्थमा के रोगियों को होली का आनंद उठाने में सुरक्षितता मिलेगी।

 

6/6

रंगों से पेट की समस्याएं-
अगर होली के दौरान मुंह या नाक में रंग चला जाए तो इससे पेट में भी समस्याएं हो सकती हैं। विशेषकर, केमिकल युक्त रंग का पेट में प्रवेश होने से गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। इस तरह की समस्याओं से बचाव के लिए सतर्क रहना जरूरी है।

loksabha entry point
अगली गैलरी
next
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.