scriptदेखें तस्वीरें : सर्दियों में इस तरह रहें फुर्तीले ऊर्जा से भरपूर, ऐसे दूर करें आलस |How to stay active and energetic in winter overcome laziness in winter | Patrika News
स्वास्थ्य

देखें तस्वीरें : सर्दियों में इस तरह रहें फुर्तीले ऊर्जा से भरपूर, ऐसे दूर करें आलस

7 Photos
3 months ago
1/7

थोड़ी सी धूप चाहिए

सर्दी में सुस्ती धूप पर्याप्त न मिल पाने के कारण महसूस होती है। शरीर में विटामिन डी की कमी से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं, जिनमें मांसपेशियों में कमजोरी और थकान भी शामिल है। आलस छाया रहता है। विटामिन डी की कमी का एनर्जी लेवल पर असर पड़ता है। रिसर्च की बात करें, तो 10 मिनट धूप लेने से भी काफी विटामिन डी मिल सकता है।

2/7

ऐसा लगता है नींद आ रही है
सर्दियों के दौरान सर्केडियन रिदम प्रभावित होती है। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के एक अध्ययन में यह खुलासा किया गया है। वहीं मेलाटोनिन नींद से संबंधित एक हार्मोन है। जॉन हॉपकिन्स मेडिसिन के अनुसार अंधेरा होने पर शरीर स्वाभाविक रूप से अधिक मेलाटोनिन बनाता है। इसलिए, जब दिन छोटे होते हैं, तो अधिक मेलाटोनिन बनता है।

3/7

नियमित व्यायाम और एक्टिविटी

बॉडी क्लॉक सही करें। सुबह उठने और रात को सोने का समय एक ही रखें। बार-बार बदलें नहीं। इसके अलावा कितनी भी सर्दी हो, व्यायाम जरूर करें। बच्चों के साथ खेलने के लिए समय निकालें। स्टेमिना में सुधार होता है। होता यह है बहुत से लोग ठंड के कारण व्यायाम नहीं करते। इससे आलस रहता है।

4/7

... इसलिए मन नहीं करता रजाई से निकलने का

बहुत ठंड लग रही है

तापमान गिरता है, तो मांसपेशियां शिथिल हो जाती हैं। दरअसल ठंडे मौसम के अनुकूल जब शरीर ढलता है, तो ऊर्जा की ज्यादा जरूरत होती है। इससे भी सुस्ती महसूस होती है। ठंड में गर्म रहने के लिए शरीर खुद ज्यादा से ज्यादा गर्मी उत्पन्न करता है। इससे भी कैलोरीज बर्न होती हैं।

5/7

रोज नहाना है जरूरी

धूप खिली हो, तो कम से कम 30 मिनट खुले में बैठें। इससे शरीर ऊर्जा से भरपूर रहता है। नहाएं जरूर। बहुत से लोग सर्दियों में कई दिन के अंतराल पर नहाते हैं। इसलिए भी आलस बना रहता है।

6/7

ताकि ज्यादा ठंड न लगे

कोशिश करें गर्माहट के लिए जिस जगह आप हों, वहां का तापमान सही रखें। होता यह है कि हम ठिठुरते हुए काम करते हैं और फिर रजाई में घुस जाते हैं। जाहिर सी बात है बिस्तर पर बैठे या लेटे रहने से आलस की समस्या बढ़ जाती है।

7/7

मीठा कम खाएं

मीठा और तला-भुना कम खाएं। हरी सब्जियां, मौसमी फल खाएं। सर्द मौसम में अलसाए रहने का एक कारण खानपान-लाइफस्टाइल में होने वाला बदलाव भी है। कोशिश करें छोटे मील्स लें। भोजन में जितनी अधिक विविधता होती है, उतना ही ज्यादा खाते है

अगली गैलरी
अगर आपके पैरों में है लगातार दर्द, इन गंभीर बीमारियों का है संकेत, जानिए इसके 6 कारण
next
loader
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.