scriptइन बीमारियों में मुलेठी की चाय से बेहतर कुछ भी नहीं, जानिए इसके अद्भुत फायदे |mulethi tea health benefits drinking mulethi tea in winters | Patrika News
स्वास्थ्य

इन बीमारियों में मुलेठी की चाय से बेहतर कुछ भी नहीं, जानिए इसके अद्भुत फायदे

7 Photos
2 weeks ago
1/7

Mulethi tea मुलेठी की चाय, जिसे लोग अंग्रेजी में लिकोरिस कहते हैं, एक अद्भुत और प्राचीन घरेलू उपचार है। यह चाय न केवल सर्दियों में गरमाहट देने का काम करती है, बल्कि तनाव, सर्दी, जुकाम, और माहवारी की परेशानियों को भी दूर करने में मदद करती है। इसके चमत्कारी फायदों को जानने के लिए, हम इसे और उसके लाभों को विस्तार से जानेंगे।

2/7

लिकोरिस-टी, जिसे मुलेठी चाय (Mulethi tea) भी कहा जाता है, आपके लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकती है। मुलेठी एक प्राकृतिक जड़ी बूटी है, जो कई औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसका इस्तेमाल आमतौर पर सर्दियों में खुद को गर्म रखने के लिए किया जाता है। यह चाय आयुर्वेद में बहुत सारी औषधियों को बनाने में भी उपयोग की जाती है। लेकिन इसकी गर्म तसीर के कारण, यह सभी के स्वास्थ्य के लिए उपयुक्त नहीं हो सकती।

3/7

 

जानते हैं मुलेठी के ऐसे ही कुछ फायदों के बारे में

 

तनाव कम करती है मुलेठी

मुलेठी का सेवन (Mulethi tea) तनाव को कम करने में मददगार साबित होता है और मानसिक स्वास्थ्य को बनाए रखने में भी फायदेमंद है। इसके औषधीय गुण तनाव को कम करके मानसिक स्थिति को सुधार सकते हैं। यह चाय नियमित रूप से पीने से मानसिक चिंता और तनाव में कमी आती है। इसलिए, समय-समय पर मुलेठी का सेवन करना बेहद महत्वपूर्ण है। इसे संतुलित और स्वस्थ जीवनशैली का हिस्सा बनाकर हम अपने मानसिक स्वास्थ्य को संरक्षित रख सकते हैं।



 

4/7

 

मुलेठी की चाय और काढ़ा सर्दी, जुकाम, और खांसी में लाभकारी


मुलेठी की चाय (Mulethi tea) और काढ़ा सर्दी, जुकाम, और खांसी में लाभकारी होते हैं। यह एक प्राकृतिक ब्रोंकोडायलेटर होता है, जो सूखी खांसी में विशेष रूप से असरकारी साबित होता है। सर्दियों में, हम सभी सर्दी-जुकाम की समस्याओं से परेशान होते हैं, और इस समय मुलेठी की चाय या काढ़ा हमें आराम प्रदान कर सकते हैं। इसके प्राकृतिक गुण सर्दी और जुकाम के लक्षणों को कम करने में मदद करते हैं, जिससे हमारा संवास्थ्य बेहतर होता है।

 

5/7

 

अनियमित पीरियड्स और बढ़ते मोटापे को कम करने में सहायक


मुलेठी (Mulethi tea) का सेवन PCOD (पॉलीसिस्टिक ओवेरियन डिजीज) और PCOS (पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम) के लक्षणों को कम करने में महिलाओं के लिए उपयुक्त साबित होता है। यह अनियमित पीरियड्स और बढ़ते मोटापे को कम करने में सहायक होता है। PCOD और PCOS जैसी स्थितियों में मुलेठी की चाय का इस्तेमाल बहुत ही उपयोगी साबित होता है। महिलाओं के लिए यह एक प्राकृतिक और सस्ता उपाय हो सकता है जो उन्हें इस समस्या से निजात पाने में मदद कर सकता है।

 

6/7

 

हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने में सहायक


मुलेठी (Mulethi tea) का नियमित सेवन हाइपरपिग्मेंटेशन को कम करने में सहायक हो सकता है। हाइपरपिग्मेंटेशन के कारण चेहरे पर दाग और धब्बे पड़ जाते हैं, जिन्हें मुलेठी का उपयोग करके हटाया जा सकता है। इसके साथ ही, मुलेठी चेहरे को प्राकृतिक रूप से चमकाने और ग्लोइंग बनाए रखने में भी मदद करती है। यह एक सस्ता और प्राकृतिक उपाय हो सकता है जो चेहरे की त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनाए रखने में सहायक होता है।

 

7/7

 

गैस्ट्रिक अल्सर को रोकने में लाभदायक


मुलेठी (Mulethi tea) एक ऐसी प्राकृतिक चीज है जो गैस्ट्रिक अल्सर को रोकने में मदद कर सकती है। अल्सर को ठीक करने वाली चीजों में से एक है मुलेठी, जो अपने औषधीय गुणों के कारण गैस्ट्रिक अल्सर और पेप्टिक अल्सर दोनों में आराम प्रदान कर सकती है। यह आपके पाचन सिस्टम को सुधारकर और आंतों को शांति देने में मदद करती है। मुलेठी का नियमित सेवन करने से आप अल्सर से पीड़ित नहीं होंगे और आपका पाचन भी ठीक रहेगा। इससे आपका स्वास्थ्य बेहतर रहेगा और आप दिनभर की गतिविधियों को सम्भाल सकेंगे।

 

अगली गैलरी
डेंगू के खिलाफ जंग में बड़ी जीत, भारत में जल्द आ सकती है Dengue Vaccine
next
loader
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.