scriptबिना डाइट वजन कम करना होगा आसान, आ गया पेट के अंदर डांस करने वाला कैप्सूल |weight loss pill could reduce food intake Vibrating weight loss pill | Patrika News
स्वास्थ्य

बिना डाइट वजन कम करना होगा आसान, आ गया पेट के अंदर डांस करने वाला कैप्सूल

7 Photos
2 months ago
1/7

MIT के इंजीनियरों ने ऐसी गोली बनाई है जो पेट के अंदर कंपन करके दिमाग को भरे पेट का संकेत देती है. इससे भूख कम होती है और लोग कम खाते हैं. इस गोली को खाने से 20 मिनट पहले लिया जाता है. यह गोली पेट की दीवार पर मौजूद खास सेंसरों को हिलाती है, जिससे दिमाग समझ लेता है कि पेट भरा हुआ है. 10 सूअरों पर किए गए परीक्षण में पाया गया कि ये गोली खाने से 40% कम खाते थे. उनके खून में भूख कम करने वाले हार्मोन का स्तर भी बढ़ जाता था. कुछ दिनों बाद ये गोली बिना किसी नुकसान के मल के साथ बाहर निकल जाती थी.

2/7

वजन कम करना आसान नहीं होता, कई बार हवा खाने से भी पेट भरता नहीं लगता. इसी समस्या का हल ढूंढ रहे हैं MIT के इंजीनियरों ने, जिन्होंने ऐसी 'कंपन करने वाली गोली' बनाई है जो पेट के अंदर गुदगुदा कर दिमाग को बेवकूफबना देगी!

ये गोली पेट की दीवार पर मौजूद खास सेंसरों को हिलाएगी, जिससे दिमाग समझ लेगा कि पेट तो पहले ही भर चुका है और अब खाने की जरूरत नहीं.

3/7

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी की बायो-इंजीनियर श्रीया श्रीनिवासन कहती हैं, "जो लोग वजन कम करना चाहते हैं या भूख को नियंत्रित करना चाहते हैं, उनके लिए ये गोली भोजन से पहले ली जा सकती है. अमेरिका में 2 में से 1 वयस्क मोटापे का शिकार है और एक तिहाई लोग अधिक वजन से परेशान हैं. मोटापे से न सिर्फ बीमारियां बढ़ती हैं, बल्कि कम खाना भी मुश्किल हो जाता है, क्योंकि दिमाग ज्यादा खाने का आदी हो चुका होता है.

4/7

वजन कम करने के लिए हम अलग-अलग तरीके अपनाते हैं, जैसे कम कैलोरी वाला खाना खाना, खूब सारा पानी पीना, या फिर बड़ी सर्जरी. कुछ दवाइयां भी भूख को कम करती हैं, लेकिन उनके साइड इफेक्ट्स होते हैं और सर्जरी का खर्चा भी ज्यादा होता है. श्रीनिवासन कहती हैं, "कई लोगों के लिए वजन कम करने की ये दवाइयां और सर्जरी काफी महंगी होती है. हमारा ये उपकरण ज्यादा किफायती हो सकता है."

5/7

ये 'कंपन करने वाली गोली' (वाइब्स - वाइब्रेटिंग इन्जेस्टिबल बायोइलेक्ट्रॉनिक स्टिम्यूलेटर) करीब एक इंच लंबी है और एक जिलेटिन के झिल्ली में ढकी है. इसे निगलने के कुछ मिनट बाद ये झिल्ली घुल जाती है. इसके अंदर एक स्प्रिंग है जो गोलियां पेट में पहुंचने के बाद एक मोटर को चालू कर देती है. ये मोटर पेट की दीवारों में नसों को उत्तेजित करती है, जिससे दिमाग को भरे पेट का संकेत जाता है.

6/7

10 सूअरों पर किए गए परीक्षण में पाया गया कि ये गोली खाने से 20 मिनट पहले लेने पर 40% कम खाते थे. उनके खून में भूख कम करने वाले हार्मोन का स्तर भी बढ़ जाता था. कुछ दिनों बाद ये गोली बिना किसी नुकसान के मल के साथ बाहर निकल जाती थी.

 

7/7

अब वैज्ञानिक इस गोली का समय बढ़ाने और इंसानों पर टेस्ट करने के तरीके खोज रहे हैं. शायद भविष्य में ये नई तकनीक वजन कम करने का 'बज' बन जाए!

इस शोध को साइंस एडवांसेज जर्नल में प्रकाशित किया गया है.

अगली गैलरी
देखें तस्वीरें : कोबरा, राज-कोबरा, करैत और ब्लैक माम्बा के जहर का अब कोई खतरा नहीं! वैज्ञानिकों ने बनाया एंटीबॉडी
next
loader
Copyright © 2024 Patrika Group. All Rights Reserved.