सोलर एनर्जी पर चलता है ये AC, पूरे दिन चलाने पर भी नहीं आएगा बिजली का बिल

सोलर एनर्जी पर चलता है ये AC, पूरे दिन चलाने पर भी नहीं आएगा बिजली का बिल

Vishal Upadhayay | Publish: Apr, 17 2019 12:43:26 PM (IST) होम अप्लाइअन्स

  • Solar AC के उपयोग से बच सकेंगे बिजली का बिल भरने से
  • इसके साथ पैनल प्लेट और डीसी से एसी कंवर्टर आता है
  • इसके लिए एकमुश्त करना होगा खर्च

नई दिल्ली: गर्मियों के मौसम में अगर किसी चीज से राहत मिलती हैं तो वह एसी ( AC ) है। ऐसे में हर कोई चाहता है कि वह ऑफिस से लेकर घर तक एसी की ठंडक में अपनी गर्मी गुजार दें। लेकिन दिक्कत तब आती है जब इसकी वजह से बिजली का बिल काफी बढ़ जाता है। इसी वजह से कई लोग एसी लेना पसंद नहीं करते हैं। अगर आप भी उन लोगों में से हैं, जो एसी का लुत्फ तो उठाना चाहते हैं लेकिन इससे आने वाले बिजली के बिल से बचना चाहते हैं, तो सोलर एसी ( solar ac ) आपके लिए बेहतर विकल्प साबित होगा। इस एसी की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि इसके उपयोग से आप बिजली बिल भरने की झंझट से बच जाएंगे।

यह भी पढ़ें: Tata Sky, Airtel और Dish TV के सबसे सस्ते प्लान, देखें सभी पसंदीदा चैनल्स

सोलर एसी के उपयोग से आप बिजली बिल के अलावा बिजली खर्च करने से भी बच सकेंगे। बाजार में कई एसी कंपनियां हैं जो सोलर एसी उपलब्ध कराती हैं। इस एसी के साथ कंपनियां आपको सोलर पैनल प्लेट और डीसी से एसी कंवर्टर भी देती हैं, जिसकी मदद से आप बिना बिजली के भी एसी का उपयोग कर सकें। इनमें सोलर पैनल प्लेट को एसी खुली जगह पर लगाया जाता है जिस पर सूर्य की किरणें पड़े। वहीं, डीसी बैटरी के जरिए इलेक्ट्रिक करेंट पैदा करता है और इसकी मदद से एसी कंवर्टर के जरिए ठंडी हवा मिलती है। इस एसी का मेंटेनेंस खर्च भी दूसरी एसी के मुकाबले काफी कम है।

यह भी पढ़ें: 10,000 से कम कीमत में खरीदें ये शानदान Smartphones, देखिए लिस्ट

ऐसे में आप सोच रहे होंगे कि इस एसी का उपयोग इलेक्ट्रिक एसी के मुकाबले कम क्यों होता है। इसकी वजह एक बार लगने वाली कीमत है। 1 टन सोलर एसी के लिए आपको ( ऑनलाइन कीमत ) करीब 90 से 1 लाख रुपये तक खर्च करना होगा। हालांकि यह सिर्फ एक बार का खर्च होगा, जो आपकी जेब पर भारी पड़ेगा। इसके बाद आपको किसी भी तरह का कोई खर्च नहीं करना पड़ेगा। अगर इलेक्ट्रिक एसी की तुलना सोलर एसी से करें तो इसकी 1 टन की कीमत करीब 20 से 40 हजार रुपये तक होगी है। इसके बाद भी बिजली के बिल का बोझ काफी ज्यादा होता है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned