9 जून को ट्रांसफर होने के बावजूद बिल्डर को उपकृत करने सब इंजीनियर ने बंधक मुक्त किए 24 प्लॉट

-नपा के सब इंजीनियर रमेश वर्मा का कारनामा

By: Rahul Saran

Published: 24 Jun 2020, 08:00 AM IST

होशंगाबाद। नगरपालिका कार्यालय मे करीब दो दशक से जमे हुए एक सब इंजीनियर का पिछले दिनों शासन ने तबादला आदेश जारी किया था। तबादला आदेश आने के बावजूद दो दिन बाद सब इंजीनियर द्वारा एक बिल्डर को उपकृत करने के लिए उसके 24 बंधक प्लॉट मुक्त करने का मामला सामने आया है। इस मामले में शासन को शिकायत कर कार्रवाई की मांग की गई है।
--------
यह है मामला
होशंगबाद नपा में पदस्थ सब इंजीनियर रमेश वर्मा का तबादला आदेश 9 जून को जारी हुआ था। उन्हें सीहोर नपा भेजा गया है। तबादला आदेश जारी होने के बाद उन्हें नियमानुसार होशंगाबाद नपा का कोई काम नहीं करना था। उन्हें 2 दिन केवल फाइलों का चार्ज हैंडओवर करने दिए गए थे मगर उन्होंने तबादला आदेश आने के ठीक 2 दिन बाद बिल्डर हरिशंकर शर्मा निवासी एकता चौक होशंगाबाद के नपा कार्यालय में बंधक २४ प्लॉट मुक्त कर दिए। इन प्लॉटों को बंधक मुक्त किया जाना मिलीभगत की तरफ इशारा कर रहा है। इस मामले में जुमेराती निवासी तरुण पालीवाल ने सीएमओ को लिखित शिकायत कर सब इंजीनियर के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।
-----------
इनका कहना है


सब इंजीनियर को 2 दिन का समय अपना चार्ज व फाइलें हैंडओवर करने के लिए दिए गए थे मगर उन्होंने उसका लाभ उठाने के लिए बिल्डर के 24 प्लॉट बंधन मुक्त कर दिए। इस मामले में हमने लिखित शिकायत की है।
तरुण पालीवाल, शिकायकर्ता निवासी जमुेराती

ट्रांसफर के बाद भी बिल्डर के बंधक २४ प्लॉट मुक्त स्पष्ट तौर पर शासन को आर्थिक क्षति देकर खुद आर्थिक लाभ लेना है। इस मामले में कार्रवाई होना चाहिए।
प्रकाश शिवहरे, विधायक प्रतिनिधि

बॉक्स
नपा में सब इंजीनियर द्वार नियम विरुद्ध किए गए कार्य के संबंध में प्रतिक्रिया के लिए सीएमओ माधुरी शर्मा को उनके मोबाइल पर संपर्क किया गया मगर उन्होंने दोनों बार फोन रिसीव नहीं किया और ना ही मैसेज का जवाब दिया।
----------------------

Rahul Saran
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned