45 किलो वजनी मोर्टार बम से अचानक हुआ धमाका, लगी आग, मची भगदड़

बम की क्षमता साढ़े छह किलोमीटर की रेंज को भेदने की है

By: sandeep nayak

Updated: 04 Apr 2019, 11:43 AM IST

होशंगाबाद। सेना के लिए भेजे जाने वाले 45 किलो वजनी मोर्टार बम से अचानक बड़ा धमाका हो गया। घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई। हादसे में 4 कर्मचारी भी घायल हो गए हैं। सीपीई (केंद्रीय प्रूफ संस्थान) इटारसी के ताकू रेंज में बुधवार को मोर्टार बम टेस्टिंग के दौरान मोर्टार बम के बारूद में आग लगने से चार कर्मचारी बुरी तरह झुलस गए। चारों कर्मचारियों को होशंगाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनकी हालत सामान्य बताई जा रही है। घटना दोपहर लगभग 1.30 बजे की हुई। इस संयुक्त परीक्षण में आर्डनेंस फैक्ट्री चांदा और सीपीई के कर्मचारी शामिल थे।
आर्डनेंस फैक्ट्री चांदा (महाराष्ट्र) से लाए गए हाई एक्सप्लोसिव बमों का बुधवार को सीपीई के ताकू रेंज में परीक्षण किया जा रहा था। सूत्रों के मुताबिक 120 एमएम मोर्टार एचई (हाई एक्सप्लोसिव) राउंड की जांच की जा रही थी। इसी दौरान एक बम को बैरल में डाला गया और जैसे ही लीवर खींचा गया तो लगभग 20 मीटर दूरी पर जाकर हवा में मोर्टार बम का बारुद लीक हो गया। जिससे बैरल के पास खड़े चार कर्मचारी टेक्नीशियन सत्येंद्र सिंह यादव, सुनील कुमार, एमसीओ लालसिंह ठाकुर तीनों निवासी इटारसी और चांदा महाराष्ट्र आर्डनेंस फैक्ट्री से आए चार्जमेन नरेंद्र पाल मलिक झुलस गए। घायलों को पहले सीपीई के मेडिकल इमरजेंसी में इलाज दिया गया। इसके बाद उन्हें होशंगाबाद के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक बम फटा नहीं है बल्कि बारूद में बर्निंग से यह स्थिति बनीं है। क्योंकि बम फटता तो आसपास के क्षेत्र में मौजूद लोगों के टुकड़े बिखर जाते। मामले में घायल सत्येंद्र सिंह यादव ने बताया कि टेस्टिंग के दौरान बम प्रीमैच्योर होने से ब्लास्ट हुआ।

120 एचई मोर्टार बम की हो रही थी टेस्टिंग
बताया गया कि प्रूफ रेंज ताकू में 120 एचई मोर्टार बम की टेस्टिंग की जा रही थी। इस बम की क्षमता साढ़े छह किलोमीटर की रेंज को भेदने की है। बम का वजन करीब 45 किलो होता है।
इसलिए खास है सीपीई
यहां देश भर के सभी आर्डनेंस फैक्ट्रियों में बनने वाले विस्फोटकों का परीक्षण किया जाता है। परीक्षण के बाद अप्रूवल मिलने के बाद ही विस्फोटकों की सप्लाई सेना में की जाती है।
पंद्रह दिन पहले भी हुई थी घटना
ताकू प्रूफ रेंज में पिछले करीब 15 दिन पहले भी टेस्टिंग के दौरान दो कर्मचारी घायल हुए थे। इन कर्मचारियों को इटारसी के सेठ धनराज मेमोरियल हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। यहां प्राथमिक उपचार के बाद घायलों को रेफर कर दिया गया था।

चार कर्मचारी झुलसे हैं
&सीपीई में काम करते हुए चार कर्मचारी झुलसे हैं। एक कर्मचारी 50 प्रतिशत व तीन 25 प्रतिशत लगभग झुलसे हैं। सभी की हालत फिलहाल सामान्य है।
डॉ. अभीजीत मुत्तावर, आर्डनेंस फैक्ट्री, इटारसी
&घायल कर्मचारियों को अस्पताल लाया गया था। घायलों ने बताया कि बम ब्लास्ट होने से वे झुलस गए हैं। सभी घायलों की स्थिति ठीक है।
डॉ. नरेंद्र पांडे, पांडे अस्पताल होशंगाबाद

sandeep nayak Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned