अफसर रैंक के पदों पर महिलाओं की नियुक्ति करना पड़ा भारी, सरकार ने लगाया जुर्माना

  • फ्रांस सरकार ने पेरिस सिटी हॉल (Peris City Hall) पर लगाया जुर्माना
  • लैंगिक समानता नियम को तोड़ने पर लगा जुर्माना

By: Pratibha Tripathi

Published: 18 Dec 2020, 08:46 PM IST

नई दिल्ली। फ्रांस की राजधानी पेरिस पूरी दुनिया में अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है। जैसी सुंदर ये जगह उतने ही कठोर यहां की नियम। तभी तो इस देश की महिलाएं आज भी लिंग-भेद की भावनाओं का शिकार है जिसका एक उदा अभी हाल ही में देखने को मिला। इन दिनों सोशल मीडिया पर भी पेरिस सिटी हॉल का नाम काफी चर्चे में आया हुआ है। इसके पीछे का सबसे बड़ा कारण है कि यहां लैंगिक समानता को लेकर कड़े नियम लागू किए गए। और इन्ही नियमों को तोड़ते हुए इस ऑफिस में ऊंचे पदों पर लिमिट से ज्यादा महिलाओं की नियुक्ति की गई। जिस पर सरकार ने इसके ऊपर 90 हज़ार यूरो यानी करीब 80 लाख 45 हज़ार रुपए का जुर्माना ठोक दिया।

लैंगिक समानता नियम की उड़ाईं धज्जियां

हमारे देश में जिस तरह से शहरों की साफ सफाई देख रेख का जिम्मा नगर निगम, नगर पालिका का होता है, वैसे ही फ्रांस (France) में शहरों की देख-रेख का कार्यभार लोकल एडमिनिस्ट्रेशन के हाथ सौपा जाता है। पेरिस (Paris) में इसका ऑफिस पेरिस सिटी हॉल (Paris City Hall) में स्थित है। यहां पर लैंगिक समानता के नियमों की अनदेखी करते हुए साल 2018 में बड़े पदों पर लिमिट से ज्यादा महिलाओं को नौकरी दी गई।

80 लाख 45 हजार का जुर्माना

बताया जाता है कि लोकल एडमिनिस्ट्रेशन पर जुर्माने की कार्रवाई फ्रांस पब्लिक सर्विस मिनिस्ट्री (France Public Service Ministry) ने की है। जिसमें कहा गया था कि 2013 में लैंगिक समानता पर बने नियम के मुताबिक, किसी भी महिला को बड़े पदों पर 60 फीसदी से ज्यादा नियुक्त नहीं किया जा सकता है। लेकिन इन नियमों का पालन ना करते हुए साल 2018 में पेरिस सिटी हॉल के मैनेजमेंट हॉल में 11 महिलाओं और केवल 5 पुरुषों की नियुक्ति की गई। जो साल 2013 में जारी किए गए नियमों के खिलाफ था। इसलिए अब फ्रांस पब्लिक सर्विस मिनिस्ट्री ने पेरिस सिटी हॉल पर 90 हजार यूरो यानी 80 लाख 45 हजार का जुर्माना लगाया है।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned