लाल नहीं अब खाइए पीला तरबूज, किसान का कमाल देख हर कोई हैरान

  • Yellow Watermelon : पीला तरबूज हाइब्रिड किस्म है, इसे आधुनिक तरीके की खेती से उगाया गया है
  • पीले तरबूज की खेती के लिए किसान ने ताइवान से मंगाए स्पेशल बीज

By: Soma Roy

Published: 26 Jun 2020, 09:49 AM IST

नई दिल्ली। गर्मी के दिनों में तरबूज (Red Watermelon) खाने का मजा ही अलग होता है। ढ़ेर सारे मिनरल्स से भरे इस फल को खाने से शरीर को कई पोषत तत्व मिलते हैं। वैसे तो लाल-लाल तरबूज को देखकर मुंह में पानी आ जाता है, लेकिन क्या कभी आपने पीला तरबूज (Yellow Watermelon) देखा है। शायद नहीं, लेकिन झारखंड (Jharkhand) में इन दिनों पीला तरबूज चर्चा का विषय बना हुआ है। यहां के एक किसान ने ताइवानी पीले तरबूज को उगाकर हर किसी को हैरान कर दिया है। सोशल मीडिया (Social Media) पर इसकी तस्वीरेें वायरल हो रही हैं।

इतना ही नहीं इस पीले तरबूज को खरीदने के लिए कस्टमर बढ़िया दाम भी चुका रहे हैं। ये अनोखा कारनामा करने वाले किसान का नाम राजेंद्र बेदिया है। दरअसल झारखंड के रामगढ़ के चोकड़बेड़ा गांव में रहने वाले राजेंद्र ने आधुनिक खेती के जरिए ये कमाल किया है। उन्होंने पहली बार पीले तरबूज की खेती की है। इसके लिए उन्होंने ऑनलाइन बीज मंगवाए थे। ये लाल तरबूज जैसे ही दिखते हैं। साथ ही खाने में बेहद मीठे हैं। ये एक ताइवानी तरबूज है।

किसान राजेंद्र ने बताया कि ये तरबूज जब काटा जाता है तो उसमें लाल की जगह पीला फल निकलता है। यह तरबूज अनमोल हाइब्रिड किस्म का है। राजेंद्र ने बताया कि उन्होंने आठ सौ रुपए में दस ग्राम पीले तरबूज के बीज मंगवाए थे। प्लास्टिक मंचिंग एवं टपक सिंचाई पद्धति से इसकी खेती की गई। खेत में 15 क्विंटल से अधिक पीले तरबूज की उपज हुई है। नॉर्मल लाल तरबूज के मुकाबले ये तीन गुना ज्यादा महंगा बिक सकता है। अगर वाजिब दाम मिले तो उन्हें करीब 22 हजार रुपए की आमदनी हो सकती है।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned