200 रुपए का कर्ज लौटाने मुंबई आए केन्या के सांसद, दरवाज़ा खोलते ही शख्स की आंखे हुई नम

200 रुपए का कर्ज लौटाने मुंबई आए केन्या के सांसद, दरवाज़ा खोलते ही शख्स की आंखे हुई नम

Priya Singh | Publish: Jul, 11 2019 11:31:50 AM (IST) | Updated: Jul, 11 2019 11:44:41 AM (IST) हॉट ऑन वेब

  • महाराष्ट्र ( Maharashtra ) के काशीनाथ गवली से 30 साल पहले केन्या ( Kenya ) के सांसद ने लिया था कर्ज
  • 200 रुपए कर्ज लौटने खास केन्या से भारत आए वहां के सांसद

नई दिल्ली। औरंगाबाद ( Aurangabad ) महाराष्ट्र ( Maharashtra ) के एक 70 वर्षीय बुजुर्ग के घर एक विदेशी मेहमान आया। 70 वर्षीय काशीनाथ गवली इस बिन बुलाए मेहमान को पहचान नहीं पा रहे थे जब उन्होंने अपना परिचय दिया तो काशीनाथ की आंखों में आंसू आ गए। ये विदेशी शख्स केन्या ( Kenya ) के सांसद रिचर्ड टोंगी थे। रिचर्ड ने जब काशीनाथ को बताया कि करीब 30 साल पहले उन्होंने काशीनाथ से 200 रुपए कर्ज लिया था। जब तक रिचर्ड ने उन्हें सारी बात नहीं बताई तब तक काशीनाथ को कुछ याद नहीं आया था। लेकिन जब उन्होंने याददाश्त पर जोर दिया तो उन्हें सब याद आ गया। काशीनाथ रिचर्ड ( Kenya mp Richard Tongi ) को वहां देखकर भाव-विभोर हो गए।

Kenya mp Richard Tongi

बता दें कि केन्या के सांसद रिचर्ड टोंगी वहां न्यारीबरी चाचे निर्वाचन क्षेत्र से सांसद हैं। वे खास केन्या से कर्ज लिए पैसे लौटने भारत आए थे। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, 1985-89 के दौरान रिचर्ड औरंगाबाद के एक स्थानीय कॉलेज में मैनेजमेंट की पढ़ाई कर रहे थे। पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने काशीनाथ गवली से 200 रुपए उधार लिए थे। उस समय काशीनाथ वानखेड़े नगर में एक किराने की दुकान चलाते थे। रिचर्ड के बुरे वक्त में गवली ने उनका साथ दिया और उन्हें पैसे देकर उनकी मदद की।

Kenya mp in mumbai

काशीनाथ गवली को इस बात का यकीन नहीं हुआ कि रिचर्ड इतना पुराना कर्ज़ा चुकाने के लिए अपनी पत्नी के साथ उनके घर आए। रिचर्ड का कहना है कि केन्या से यहां तक का सफर मेरे लिए भावुक रहा। "जब मैं गवली से मिला तो मेरी आंखें भर आईं।" उन्होंने मीडिया से कहा, "जब मैं औरंगाबाद में पढ़ाई कर रहा था, तब मेरी स्थिति ठीक नहीं थी, उस बुरे वक्त में इन लोगों (गवली परिवार) ने मेरी मदद की। मैंने सोचा था कि कभी न कभी मैं वापस ज़रूर आऊंगा और इनसे लिया कर्ज लौटाऊंगा। मैं उन्हें शुक्रिया अदा करना चाहता था। उनसे दोबारा मिलना बेहद भावुक पल था।"

रिचर्ड ने गवली परिवार ढ़ेर सारी दुआएं दीं। गवली ने भी रिचर्ड का तहे दिल से अपने घर में स्वागत किया। गवली उन्हें होटल ले जाकर खाना खिलाना चाहते थे लेकिन रिचर्ड ने घर पर ही खाना खाने पर ज़ोर दिया। गवली परिवार से विदा लेते समय सांसद रिचर्ड टोंगी ने काशीनाथ गवली को केन्या आने का न्योता दिया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned