लगातार बारिश से फिर से बाढ़ का खतरा

लगातार बारिश से फिर से बाढ़ का खतरा
लगातार बारिश से फिर से बाढ़ का खतरा

Zakir Pattankudi | Updated: 06 Oct 2019, 08:39:38 PM (IST) Hubli, Dharwad, Karnataka, India

लगातार बारिश से फिर से बाढ़ का खतरा
-जनजीवन अस्त-व्यस्त, फसलें बर्बाद
हुब्बल्ली

लगातार बारिश से फिर से बाढ़ का खतरा
हुब्बल्ली
हुब्बल्ली-धारवाड़ जुड़वां शहर समेत पूरे धारवाड़ जिले में शनिवार शाम से लगातार बारिश हो रही है जिससे जनजीवन अस्तव्यस्त हुआ है।
नवलगुंद तालुक के हिरेहल्ला, बेण्णेहल्ला में बाढ़ से प्याज, उड़द व मक्का की फसलें बर्बाद होने से किसान कंगाल हुए हैं। बारिश से 11 मकान आंशिक तौर पर गिरे हैं।

अधिक नुकसान हुआ

पुरानी हुब्बल्ली के कसाई मोहल्ले में दो मकानों को नुकसान हुआ है। यह मकान अब्दुल रशीद नामक व्यक्ति के हैं। लगातार हो रही बारिश से मकान की दीवार में पानी भरने से मकान की दीवारे ढही हैं। इसके चलते घर में स्थित सारा सामान मिट्टी में दब गया है इससे अधिक पैमाने पर नुकसान हुआ है।

राहत उपलब्ध कराने की मांग

पुरानी हुब्बल्ली समेत कुंदगोल व कलघटगी में आंशिक तौर पर मकानों की दीवारें गिरी हैं। वाणिज्य नगरी हुब्बल्ली में जनजीवन अस्तव्यस्त हुआ है। हर कहीं घरों तथा व्यापारिक प्रतिष्ठानों में पानी घुसने से लोगों को पानी बाहर निकालने के लिए जूझना पड़ रहा है। स्थानीय लोगों ने महानगर निगम अधिकारियों से मौका मुआयना कर राहत उपलब्ध कराने की मांग की।

भारी पैमाने पर फसल नुकसान

धारवाड़ जिले में लगातार हो रही बारिश से नवलगुंद तालुक के हिरेहल्ला, तुपरिहल्ला में बाढ़ है जिससे तड़स के समीप के क्यासनकेरी तथा चवडल्ली गांवों के मार्ग मध्य नहर उफनी है। नहर में पानी की आवक बढ़ रही है जिससे ग्रामीणों में भय छाया हुआ है। नहर के आसपास की दसियों एकड़ जमीन पानी से डूबने की सम्भावना होने से फिर से भारी पैमाने पर फसल नुकसान हुई है।

मकान की दीवार गिरने से दो जने गंभीर घायल

पिछली रात से हो रही लगातार बारिश से मकान की दीवार गिरने से दो जने गम्भीर रूप से घायल हुए हैं। घायलों की पहचान संगप्पा (6 5) तथा संगव्वा (58 ) के तौर पर की गई है। घायलों को किम्स अस्पताल में भर्ती किया गया है।

फिर से बाढ़ का खतरा

धारवाड़ जिले में शनिवार शाम से हो रही बारिश ने जनता को फिर से तकलीफ में डाला है। लगातार हो रही बारिश से शहर के विभिन्न जगहों के निचले इलाकों के सैकड़ों घरों में पानी घुसा है तो कुछ इलाकों में पहले ही मकान गिरने के चलते छत पर बांधे तापपाल के जरिए पानी आने से लोगों को सारी रात जागना पड़ा। लगभग चार-पांच घंटे हुई बारिश से जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हुआ। निचले इलाकों में स्थित आवासीय इलाकों में पानी घुसने पर सड़कों पर जगह जगह पानी जमा हो गया। इससे लोगों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned