दक्षिण मध्य रेलमार्ग के विद्युतीकरण से गोवा को लाभ नहीं

दक्षिण मध्य रेलमार्ग के विद्युतीकरण से गोवा को लाभ नहीं

By: S F Munshi

Updated: 05 Feb 2021, 08:18 PM IST

दक्षिण मध्य रेलमार्ग के विद्युतीकरण से गोवा को लाभ नहीं
-विधायक सरदेसाई ने लगाया आरोप
पणजी
विदेश से आने वाला कोयला कर्नाटक को देने का प्रयास गोवा सरकार कर रही है। कोयले को पहाड़ी क्षेत्र में निर्मित पटरियों पर से ले जाने के लिए 6 इंजनों को लगाना पड़ सकता है। इसके चलते दक्षिण मध्य रेलमार्ग का विद्युतीकरण किया जा रहा है। गोवा फारवर्ड पार्टी के अध्यक्ष तथा विधायक विजय सरदेसाई ने आरोप लगाया कि इससे गोवा को कुछ लाभ नहीं होगा। रेलवे डबल ट्रैकिंग, कोयला आपूर्ति व विद्युतीकरण कर्नाटक के लाभ के लिए है ना कि गोवा के लाभ के लिए। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत कर्नाटक के ठेकेदार के रूप में कार्य कर रहे हैं। वे मडगांव में संवाददाताओं के सवालों के जवाब में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि दक्षिण मध्य रेलमार्ग पर गोवा के लिए 6 ट्रेनें ही चलती हैं।
उन्होंने सवाल उठाया कि केवल 6 ट्रेनों के लिए इस मार्ग का विद्युतीकरण करने की आवश्यकता ही क्या है? कर्नाटक को कोयला आसानी से उपलब्ध करवाने की दिशा में केंद्र सरकार के आदेशानुसार गोवा सरकार प्रयास कर रही है। विधायक सरदेसाई ने कहा कि गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत कर्नाटक के ठेकेदार के रूप में कार्य कर रहे हैं।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned