script लोकतंत्र के पर्व में शामिल हुए प्रवासी, उत्साह के साथ लिया मतदान में हिस्सा | Rajasthan Legislative Assembly Election | Patrika News

लोकतंत्र के पर्व में शामिल हुए प्रवासी, उत्साह के साथ लिया मतदान में हिस्सा

locationहुबलीPublished: Nov 25, 2023 07:09:12 pm

कर्नाटक से बड़ी संख्या में प्रवासी जन्मभूमि पहुंचे
सड़क, रेल एवं वायुमार्ग से पहुंचे राजस्थान
प्रत्याशियों एवं समर्थकों ने दिए थे पीले चावल

Rajasthan Legislative Assembly Election
Rajasthan Legislative Assembly Election
राजस्थान विधानसभा चुनाव में मतदान करने के लिए कर्नाटक से भी बड़ी संख्या में प्रवासी राजस्थान पहुंचे और लोकतंत्र के उत्सव में शामिल हुए। प्रवासियों ने मताधिकार का उपयोग किया। बड़ी संख्या में प्रवासी बसों, रेल एवं वायुमार्ग से राजस्थान पहुंचे। कर्नाटक के धारवाड़, गदग, बेलगावी, बिदर, कलबुर्गी, विजयपुर, यादगिर, रायचूर, बागलकोट, कोप्पल, बल्लारी, हावेरी, दावणगेरे, उत्तर कन्नड़, दक्षिण कन्नड़, उडुपी, शिवमोग्गा, चित्रदुर्ग, चिकमगलूरु समेत अन्य जिलों से प्रवासी बड़ी संख्या में राजस्थान पहुंचे और उन्होंने शनिवार को यहां मतदान में हिस्सा लिया। कई प्रवासी दो सप्ताह पहले ही आ गए थे। कई विशेष ट्रेन से अपनी जन्मभूमि पहुंचे। इसके लिए बकायदा प्रवासी समाज के लोगों ने राजस्थान के लिए पहले ही हवाई जहाज एवं रेल के टिकट बुक करा लिए थे। कई प्रवासी विशेष बसों से भी जन्मभूमि पहुंचे।
प्रत्याशी लगातार रहे संपर्क में
इस बार राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रवासियों में खासा उत्साह देखने को मिला। राजस्थान में विधानसभा चुनाव लड़ रहे विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों के साथ ही निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी प्रवासियों से संपर्क साधा था। कई उम्मीदवार कर्नाटक के शहरों में आए तथा प्रवासियों से मत एवं समर्थन की गुहार लगाई। जो उम्मीदवार कर्नाटक तक नहीं पहुंच सके, उन्होंने अपने समर्थकों को प्रवासियों के पास पीले चावल देकर भेजा था। यही वजह रही कि इस बार प्रवासियों में मतदान को लेकर खासा जोश भी दिखा। प्रवासी राजस्थान में शनिवार को सुबह से ही मतदान केन्द्रों पर पहुंच गए और लाइन में लगकर मतदान किया। कई प्रवासियों ने मतदान के बाद मतदान केन्द्रों पर ही लगे सेल्फी पोइन्ट पर पहुंचकर सेल्फी ली।
प्रशासन ने भी की थी पहल
कर्नाटक में राजस्थान के बाड़मेर, बालोतरा, जालोर, सांचौर, सिरोही, पाली, जोधपुर, फलोदी, जैसलमेर, बीकानेर, नागौर, राजसमंद जिलों के प्रवासी अधिक संख्या में बिजनस कर रहे हैं। ऐसे में इन जिलों के विधानसभा क्षेत्रों में प्रवासियों की प्रमुख भूमिका भी रहेगी। कई विधानसभा क्षेत्रों में प्रवासी निर्णायक भूमिका निभाएंगे। यही वजह रही कि प्रवासियों को रिझाने में उम्मीदवारों ने कोई कौर-कसर नहीं छोड़ी। इस बार जिला प्रशासन ने भी प्रवासियों को मतदान के लिए संपर्क साधा था। इसके लिए बकायदा मनुहार रूपी पम्पलेट्स भी भेजे गए थे। इसके साथ ही व्हाट्सऐप एवं अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से भी प्रवासियों से लगातार संपर्क साधा गया। कई गांव स्तर पर व्हाट्सऐप ग्रुप बनाए गए और प्रवासियों से अपने गांव आकर मतदान का आग्रह किया गया।
प्रवासी लगातार आ रहे
सिवाना विधानसभा क्षेत्र के दाखा निवासी सांवलाराम चौधरी ने कहा, इस बार प्रवासी बड़ी संख्या में राजस्थान गए हैं। दुकानों पर कार्यरत कर्मचारी भी इस बार वोट देने के लिए राजस्थान गए हैं। ऐसे में राजस्थान में इस बार वोटिंग प्रतिशत बढ़ सकती है। इस बार प्रवासियों में मतदान को लेकर अधिक उत्साह देखा गया। पचपदरा विधानसभा क्षेत्र के बिठूजा निवासी मालाराम देवासी ने कहा, मैं मतदान से बहुत पहले अपने गांव आ गया। हुब्बल्ली समेत कर्नाटक के विभिन्न शहरों से प्रवासी मतदान के लिए राजस्थान आए हैं। शनिवार को मतदान के दिन भी कई प्रवासी अपने गांव आए हैं और मताधिकार का उपयोग किया।

ट्रेंडिंग वीडियो