येडियूरप्पा ने त्यागपत्र दिया तो रुकेंगे शिवमोग्गा के विकास कार्य

येडियूरप्पा ने त्यागपत्र दिया तो रुकेंगे शिवमोग्गा के विकास कार्य

By: S F Munshi

Published: 23 Jul 2021, 06:45 PM IST

येडियूरप्पा ने त्यागपत्र दिया तो रुकेंगे शिवमोग्गा के विकास कार्य
-मंजूर कर चुके हैं अपने गृह नगर के लिए हजारों करोड़ रुपए
शिवमोग्गा
यदि मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया तो उनके अपने गृह निर्वाचन क्षेत्र शिवमोग्गा में हजारों करोड़ रुपए के विकास कार्य अटक जाएंगे। यह चिंता क्षेत्र के लोगों को सताने लगी है। येडियूरप्पा मात्र दो वर्ष में गृह नगर के लिए हजारों करोड़ रुपए मंजूर कर चुके हैं। साथ ही कई नई योजनाएं भी जारी कर चुके हैं। जो योजनाएं स्थगित हो चुकी थीं उन्हें फिर से शुरू कर चुके हैं। वे यह भी ध्यान रख रहे हैं कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान विकास कार्य बाधित न हो। क्षेत्र में उद्योग, सड़क, रेलवे, स्वास्थ्य, हवाई अड्डा, सरकारी भवन निर्माण, सिंचाई, पर्यटन सहित कई कार्य चल रहे हैं। यहां की जनता का मानना है कि निर्माण कार्य को जो प्राथमिकता अब मिली है वह पहले कभी न मिली थी। ऐसे समय में येडियूरप्पा यदि अपने पद से त्यागपत्र देंगे तो शिवमोग्गा का विकास कार्य रुक जाएगा।
वर्ष 2009 में येडियूरप्पा के ही कार्यकाल में शिवमोग्गा शहर में योजनाओं
की झड़ी लगी थी। सौ करोड़ रुपए का अनुदान भी मंजूर करवाया। दूसरे साल
ज्यों ही वे मुख्यमंत्री पद से उतरे सभी योजनाएं लंबित रह गई। अनुदान की किल्लत की वजह से कई कार्य फाइलों तक ही सिमट कर रह गई। बाद
में आए किसी भी मुख्यमंत्री ने शिवमोग्गा जिले की योजनाओं को प्राथमिकता नहीं दी। साथ ही महत्वपूर्ण योजनाओं के लिए अनुदान भी जारी नहीं किया।
वर्ष 2019 में येडियूरप्पा के पुन: मुख्यमंत्री बनते ही दस
साल से लंबित विकास योजनाओं को हरी झंडी दिखाई गई। हवाई अड्डा निर्माण कार्य योजना के लिए सौ करोड़ रुपए मंजूर करवा कर निर्माण कार्य शुरू करवाया।

S F Munshi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned