‘उसने मेरी चुहिया को मार डाला, गेम में भी हरा देती थी, आज बदला ले लिया’

  • इंदौर के लसूडिय़ा में दिल दहलाने वाली वारदात
  • मनोवैज्ञानिक पूछताछ में बोला - चूहे की मौत का ले लिया बदला
  • घर जाकर कपड़े धोए और आराम से बैठ गया

By: हुसैन अली

Published: 08 Sep 2020, 11:13 AM IST

इंदौर. लसूडिय़ा क्षेत्र में दिल दहलाने वाली वारदात हुई। 9 वर्षीय मासूम की 12 साल के किशोर ने पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी। पुलिस की मनोवैज्ञानिक पूछताछ में वह बोला, पालतू चूहिया की मौत का बदला ले लिया।

स्कीम 136 में आइडीए बिल्ंिडग के पास वैदिका (9) पिता निर्मल लोहवंशी की पत्थर से सिर पर वार कर हत्या की गई। चेहरे पर बड़े पत्थर रखकर छिपा दिया। पिता निर्मल बोले, वैदिका 12 बजे घर के पास खाली प्लॉट पर फूल तोडऩे गई थी। 12.30 बजे तक नहीं आई तो घरवालों ने मुझे फोन किया। घर पहुंचा व परिवार और मोहल्ले के ५० लोग तलाश में जुटे। घर से 100 मीटर दूर गड्ढेेनुमा खाली प्लाट पर वैदिका का शव मिला। डॉयल 100 पर जानकारी दी। वैदिका चौथी कक्षा में पढ़ती थी। उसका एक बड़ा भाई वेदांत है। लॉकडाउन के चलते वह घर से कम ही निकलती थी। परिवार पहले स्कीम 78 में रहता था। एक साल पहले ही स्कीम 136 में शिफ्ट हुआ है। बेटी की हत्या से परिवार सदमे में है। घटना स्थल पर एसपी पूर्व विजय खत्री, एएसपी राजेश रघुवंशी, सीएसपी, टीआइ विजय नगर तहजीब काजी, एफएसएल टीम पहुंची। शव को पुलिस ने एमवायएच अस्पताल भेजा और हत्या का केस दर्ज किया।

12 साल के किशोर ने मार डाला

लसूडिय़ा थाने के सिपाही धीरेंद्र राठौर, अंकुश, प्रणीत को एक लडक़ी मिली। उसने बताया, वैदिका को एक लडक़े के साथ जाते देखा था। फुटेज खंगाले तो बच्ची एक किशोर के साथ नजर आई। फुटेज परिवार को दिखाए तो वह पहचान गए। किशोर का परिवार पास ही रहता है। डीआइजी हरिनारायणाचारी मिश्र, एसपी पूर्व, एएसपी सभी बच्चे के घर पहुंचे। वह बाथरूम में छिपा था। पुलिस ने चॉकलेट का लालच दिया तो भी बाहर नहीं आया। एक घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने उसे बाहर निकाला। पहले वह वारदात से इनकार करता रहा। मनोवैज्ञानिक पूछताछ में किशोर ने हत्या करना कबूला। उसने घर आने के बाद कपड़ों पर खून के निशान होने पर उन्हें धो दिया। वह बोला, वैदिका के चेहरे पर पत्थर रखकर आया था।

चूहिया के विवाद में कर दी हत्या

किशोर के पास एक सफेद रंग की चूहिया थी, जो बच्चे देने वाली थी। किशोर उससे बहुत अटैच था। कुछ दिन पहले चूहिया की मौत हो गई। चूहिया की मौत को लेकर पूछताछ करने वैदिका को साथ लेकर गया था। वैदिका ने चूहिया को मारने से इनकार किया, जिसे लेकर दोनों में बहस हुई। किशोर ने गुस्से में पत्थर उठाकर वैदिका के सिर पर दो वार किए, जिससे वह निढाल होकर गिर गई तो भाग आया। किशोर को पकडऩे के बाद उसके माता-पिता व भाई को भी पूछताछ के लिए पुलिस थाने लाई है। पुलिस जांच कर रही है कि वारदात में बच्चे के अलावा किसी और की भूमिका तो नहीं है।

हत्या की वजह पर परिवार को यकीन नहीं

चचेरी बहन नेहा ने कहा, वैदिका नहाने के बाद भगवान को चढ़ाने के लिए फूल तोडऩे घर से निकली थी। परिवार ने खाना खाने के लिए आवाज लगाई तो वह नहीं आई। इसके बाद तलाश शुरू की। चूहिया को मारने के लिए हत्या की बात यकीन नहीं हो रहा है। घटना में किशोर के साथ कोई बड़ा भी शामिल है। बिना किसी की मदद से किशोर हत्या नहीं कर सकता है। पुलिस गंभीरता से जांच करे ताकि वैदिका को न्याय मिल सके।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned