एआईएसएचई के लिए 167 कॉलेजों ने नहीं दी जानकारी

एक दर्जन से ज्यादा सरकारी कॉलेज भी शामिल, यूनिवर्सिटी ने दी 25 फरवरी तक की मोहलत

इंदौर.

देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी से संबद्ध ज्यादातर कॉलेज एआईएसएचई सर्वे के लिए बेरुखी दिखा रहे है। 280 में से 167 कॉलेजों ने लगातार पत्र व्यवहार के बावजूद जानकारी नहीं दी। यूनिवर्सिटी ने इन कॉलेजों को अब 25 फरवरी तक की मोहलत दी है। इसके बाद सर्वे से दूरी बनाने वाले कॉलेजों पर कार्रवाई की जाएगी।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय हर साल ऑल इंडिया सर्वे ऑन हायर एजुकेशन (एआईएसएचई) कराता है। इसके तहत कॉलेजों को कोर्स, टीचिंग स्टाफ, कॉलेज में चलने वाली योजनाएं, छात्रों की संख्या, संसाधन आदि की जानकारी देना होती है। 2019-20 के सर्वे में डीएवीवी से संबद्ध सभी कॉलेज हिस्सा ले सकें इसलिए यूनिवर्सिटी ने 15 फरवरी तक का समय दिया था। लेकिन, अंतिम तिथि तक 167 कॉलेजों ने जानकारी नहीं दी। इनमें होलकर साइंस कॉलेज, महारानी लक्ष्मीबाई पीजी कॉलेज, निर्भय सिंह पटेल कॉलेज, मातेश्वरी सुगनीदेवी कॉलेज, माता जीजाबाई गल्र्स कॉलेज सहित खंडवा, धार, महू, बदनावर, बलवाड़ी, अंजड़, भाबरा, भीकनगांव, बुरहानपुर, धामनोद, धरमपुरी, जोबट, कसरावद, मंडलेश्वर, मूंदी, राजपुर, बड़वानी, झाबुआ, देपालपुर, बड़वानी आदि जगहों के सरकारी कॉलेज भी शामिल है। निजी कॉलेजों में एक्रोपोलिस, ऑल्टिस कॉलेज, एस्पायर इंस्टिट्यूट, एस्ट्रल इंस्टिट्यूट, बीएम कॉलेज, कैम्ब्रिेज इंटरनेशनल, सीएच इंस्टिट्यूट, चमेलीदेवी कॉलेज, आईकेडीसी आदि है।

अभिषेक वर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned