भाजपा : इन नेताओं की अब खुलने वाली है 'लॉटरी', पार्टी में मिलेंगे अहम पद

मुख्यधारा में लाने का करेंगे काम, शीर्ष नेतृत्व की तरफ से मिला फ्री हैंड

By: हुसैन अली

Published: 18 Feb 2020, 04:31 PM IST

इंदौर. अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुडऩे वाले नेताओं की अब लॉटरी खुलने वाली है। वीडी शर्मा के प्रदेशाध्यक्ष बनने के बाद तय हो गया है कि भाजपा में उन्हें अहम् पद मिलेंगे। नया नेतृत्व खड़ा करने के लिए उन्हें तैयार किया जाएगा। ऐसा करके शर्मा अपनी व्यक्तिगत टीम को भी मजबूत करने का प्रयास करेंगे।

कल नव प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने पदभार ग्रहण कर लिया। स्वागत रैली में भोपाल के स्थानीय नेता व कार्यकर्ताओं का जमावड़ा कम तो अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की टीम ज्यादा नजर आई। उनसे ताल्लुक रखने वाले कई नेता पहुंचे। हालांकि इंदौर से रैली में जाने वालों की संख्या भी कम नहीं थी। प्रमुख नेताओं में कृष्णमुरारी मोघे, गोपी नेमा, सुदर्शन गुप्ता, उमेश शर्मा, कमल वाघेला, मुकेश राजावत, घनश्याम शेर, बबलू शर्मा, नानूराम कुमावत, गोलू शुक्ला, नारायण पटेल, जवाहर मंगवानी, ओम यादव, गंगा पांडे, वाईडी शर्मा और शक्ति विरहे प्रमुख थे। एक तरह से देखा जाए तो नगर भाजपा अध्यक्ष बनने के सारे दावेदारों ने कल हाजरी भरवाई। नेमा अपना कार्यकाल बढ़ाने के हिसाब से पहुंचे तो बाकी दावेदार उपस्थिति दर्ज कराने के लिए।

पार्टी ने दिया फ्री हैंड

गौरतलब है कि शर्मा की सीधी नियुक्ति संघ और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की विशेष रुचि के चलते हुई है। साथ में उन्हें फ्री हैंड भी दिया गया है ताकि वे प्रदेश में संगठन के काम को एक बार फिर मजबूत करें। योजना के हिसाब से शर्मा का सारा फोकस संगठन से युवाओं को जोडऩे और नया नेतृत्व खड़ा करने पर होगा। इसके चलते विद्यार्थी परिषद की टीम को मजबूत किया जाएगा। उस हिसाब से परिषद से जुड़े नेता जो भाजपा में अब तक लूप लाईन झेल रहे थे, उनकी लॉटरी खुल सकती है। बची हुई जिला स्तर की इकाई में उन्हें महत्वपूर्ण भूमिका दी जा सकती है। शर्मा लंबा चलने के लिए संघ को भी नजरअंदाज नहीं करेंगे। उसकी पसंद को भी गंभीरता से लेंगे।

पीछे के दरवाजे से हो गए गायब

कल रैली के रूप में राजधानी के दीनदयाल भवन में पहुंचे शर्मा का स्वागत हुआ। ये सिलसिला रात ८ बजे तक चलता रहा। उसके बाद शर्मा पीछे के दरवाजे से कार्यालय से रवाना होकर संघ मुख्यालय समिधा पहुंच गए। वहां पर वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात करने के बाद वे भोपाल के विद्यार्थी परिषद कार्यालय भी पहुंचे और वहीं से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इधर, कार्यकर्ता कार्यालय पर उनका इंतजार करते रह गए। काफी समय के बाद उन्हें मालूम पड़ा कि वे चले गए हैं। कुछ तो लौटने के इंतजार में थे, लेकिन काफी समय बाद मालूम पड़ा कि दिल्ली जाने वाले हैं।

BJP
हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned