सिर मुंडवाकर वारदात की फिराक में घुम रही गैंग पकड़ाई

गांधी नगर थाना क्षेत्र का मामला, चोरी की साजिश रचते पकड़ाए आरोपी, कई औजार बरामद

 

By: Krishnapal Singh

Published: 03 Sep 2018, 09:25 PM IST

इंदौर, सुपर कॉरिडोर के समीप सिर मुंडवाकर वारदात के फिराक में घूम रही गैंग को थाना पुलिस ने रविवार रात गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपियों ने क्षेत्र में चोरी की वारदात करने जाने की बात कबूली। तलाशी में सभी से औजार बरामद हुए हंै।
टीआइ नीता देअरवाल के मुताबिक गांधी नगर रोड स्थित तेजाजीनगर मंदिर के समीप से आरोपी विजय (२५) पिता जगताप, योगेश (२५) पिता ओमप्रकाश व दो नाबालिग सभी निवासी नेनौद मल्टी को टीम ने गिरफ्तार किया है। आरोपी यहां बैठकर क्षेत्र में किसी घर में चोरी की वारदात करने के पूर्व पकड़ाए हैं। तलाशी में विजय से एयरगन, योगेश से लोहे की टामी व नाबालिग आरोपियों से पेचकस व चाबी का गुच्छा जब्त किया है। सभी ने एक जैसे हुलिए बना रखे हैं। पता चला है कि पकड़े जाने पर आरोपियों ने पुलिस के चंगुल से छूटने के लिए नया तरीका अपनाया है। टीम द्वारा पकड़ाते आरोपी घर में गमी हो जाने, तो कभी कैमरे में कैद हो जाने पर एक जैसे दिखने पर पहचान में नहीं आने की बात कहते रहे। टीआइ का कहना है कि हाल ही में क्षेत्र में देररात किसी गैंग द्वारा वारदात की नीयत से लोगों के घर के दरवाजे ठोंकने की बात सामने आ चुकी है। इसके लिए क्षेत्र में टीम द्वारा विशेष रूप से चेकिंग करवा रहे हैं।

व्यापारी की खुदकुशी के मामले में दस्तावेजों की होगी जांच

इंदौर। गांधीनगर थाना क्षेत्र की हाईलिंक सिटी में रहने वाले बिल्डिंग मटेरियल व्यापारी ने फाइनेंसर की धमकी से परेशान होकर आत्महत्या कर ली। घटना का खुलासा उनके ९ वर्षीय बेटे ने मीडिया के सामने किया। घटना वाले दिन से लेकर पुलिस विभिन्न बिंदुओं पर जांच कर रही हे। सोमवार को मृतक के परिजनों से पुलिस ने दस्तावेज जांच के लिए मांगे हैं।टीआइ नीता देअरवाल के मुताबिक मृतक बलवंत ४२ मदनलाल पांडे द्वारा जहर खाकर खुदकुशी के मामले में जांच जारी है। सोमवार को टीम उनके घर गई। परिजनों से बजाज फाइनेंस कंपनी के संबंध में दस्तावेज जांच के लिए मांगे हैं। परिवार के सभी सदस्य गम में डूबे हैं इसलिए दस्तावेज नहीं मिल सके। मंगलवार को वे दस्तावेज देंगे। वहीं किसी के बयान नहीं हुए। परिवार ने बेटे को अभी दूसरी जगह पर रखा है। इधर, एएसपी मनीष खत्री ने घटना दिनांक को व्यापारी के घर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद फाइनेंसर से संबंधित फुटेज मांगे हैं। उनका कहना है जांच में फाइनेंसर के दोषी पाए जाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि ९ वर्षीय बेटे ने बजाज कंपनी के फाइनेंसर द्वारा पिता को गाली देने व विवाद करने की बात उजागर की है। बेटे ने बताया कि फाइनेंसर ने रुपए नहीं देने पर घर से गाड़ी उठा कर ले जाने का कहने लगे। यह सब होने के बाद उसके सामने पिता ने ‘दवा’ खाकर जान दे दी।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned