हींग व्यापारी के इंदौर में 19 लाख जब्त हुए तो गला काटकर उज्जैन आया, होटल से मिला शव

दो दिन पहले इंदौर जीआरपी ने रेलवे स्टेशन पर जांच के दौरान बैग में मिले थे रुपए

Ramesh Vaidh

December, 0901:32 AM

इंदौर/उज्जैन. देवासगेट क्षेत्र स्थित एक होटल में उत्तरप्रदेश के हींग व्यापारी की लाश मिली है। व्यापारी ने खुद का गला काटकर आत्महत्या की है। व्यापारी के आत्महत्या के पीछे दो दिन पहले इंदौर रेलवे स्टेशन पर जीआरपी की जांच में उसके बैग से मिले 19 लाख रुपए आयकर विभाग द्वारा जब्त किया जाना है। संभवत: इसी से वह परेशान था। उसने इंदौर की होटल में खुद का गला काटा और फिर उज्जैन पहुंचा। सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी सहित एफएसएल की टीम पहुंची और जांच शुरू की है।
देवासगेट पुलिस के मुताबिक आत्महत्या करने वाला व्यापारी उत्तरप्रदेश के हाथरस निवासी गौरव (40) पिता राकेश बंसल है। शनिवार रात 10.30 बजे के करीब देवासगेट स्थित प्रीति होटल में ठहरा था। रविवार शाम 7.30 बजे के करीब जब होटल कर्मचारी ने सफाई के लिए कमरा खोलने आवाज लगाई तो अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। इस पर खिडक़ी से देखा तो उसके होश उड़ गए, व्यापारी का गला कटा था और कमरे खून फैला हुआ था। इस पर पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस और एफएसएल की टीम ने कमरे का दरवाजा तुड़वाया और जांच शुरू की। देवासगेट टीआई पृथ्वीसिंह खलाटे ने बताया कि ६ दिसंबर को इंदौर जीआरपी में जांच के दौरान व्यापारी बसंल के बैग से 19 लाख रुपए मिले थे। जीआरपी ने उसे आयकर विभाग को सुपुर्द कर दिया। इसके बाद वह इंदौर से उज्जैन आया था। यहां उसकी लाश मिली है। जांच में फिलहाल कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।
हाथरस जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचा था
हीग व्यापारी गौरव बंसल 5 दिसंबर को इंदौर आया था। यहां उसने व्यापारियों से हिसाब के रुपए लिए। वह इंदौर की नीलम होटल में ठहरा था। 6 दिसंबर की रात को वह उत्तरप्रदेश के हाथरस जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचा था। इसी दौरान जीआरपी ने जांच के दौरान उसे पकड़ लिया था। आयकर विभाग ने उसके रुपए जब्त करते हुए 7 दिसंबर को दस्तावेज लेकर आने को कहा था। इसके बाद वह दोबारा से नीलम होटल आया। यहां उसने कर्मचारी से चाकू मंगवाया। रात में ही उसने गला काटा और ताला लगाकर उज्जैन के लिए निकल गया। सुबह जब उसके दोस्त पहुंचे और वह नहीं मिला तो कमरा खुलवाया। इस कमरे में खून फैला दिखा और उसका मोबाइल व अन्य सामान भी रखा था। इस पर पुलिस को सूचना दी। जब सीसीटीवी फुटेज देखे तो व्यापारी बसंल के गले में पट्टी बंधी हुई थी और ऑटो में बैठ रहा था। ग्वालटोली थाने ने उसकी गुमशुदगी दर्ज की थी।
शनिवार को ही उज्जैन आ गया था, परिजन भी ढूंढते पहुंचे
व्यापारी बंसल शनिवार को ही उज्जैन आ गया था। बताया जा रहा है कि वह इंदौर गेट स्थित एक होटल गया था। वहां उसे कमरा नहीं मिला। इस पर वह दिनभर भटकता रहा। शनिवार रात को देवासगेट स्थित होटल प्रीति में ठहरा। शाम को उसकी होटल में से लाश मिली। आशंका जताई जा रही है कि अत्यधिक खून बहने से उसकी मौत हो गई है। क्योंकि कमरे में मिला खून सूख चुका था। वहीं व्यापारी की तलाश में उसके परिजन और दोस्त उज्जैन ढूंढने भी पहुंचे थे। सुबह महाकाल थाना पहुंचकर गौरव के बारे में जानकारी भी ली थी।

रमेश वैद्य Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned